समाचार

25 जुलाई को शिक्षामित्रों ने शहीद दिवस के रूप में मनाया

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षा मित्र संघ ने प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर  गोरखपुर के शिक्षामित्रों ने 25 जुलाई को नॉर्मल कंपाउंड में शहीद दिवस मनाया. शिक्षा मित्रों ने 25 जुलाई 2017 को आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अवसाद में मृत्यु को प्राप्त हुए शिक्षा मित्रों को 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की।

इस मौके पर शिक्षामित्रों ने कहा कि 25 जुलाई 2017 को सुप्रीम कोर्ट से आए फैसले के बाद प्रदेश में 13 सौ से अधिक शिक्षामित्रों की अवसाद में मौत हुई है. गोरखपुर जिले में भी 12 शिक्षामित्रों की मौत अवसाद के कारण हो चुकी है.

श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए शिक्षा मित्र संघ के जिला अध्यक्ष राम नगीना निषाद ने कहा 2001 से प्राथमिक विद्यालयों के रीढ़ माने जाने वाले शिक्षा मित्रों के साथ घोर अन्याय हुआ है. प्रदेश में 172000 शिक्षामित्रों में से जिन 137000 शिक्षामित्रों को सहायक अध्यापक का मान सम्मान मिल चुका था, 40000 वेतन पा रहे थे, आज उनको साजिश के तहत कोर्ट से हटवा दिया गया है और 40,000 से 10000 मानदेय पर खड़ा कर दिया गया है, वह भी 11 महीने के लिए ही.

उन्होंने कहा कि शिक्षामित्र घबराए नहीं और हार ना माने. संगठन लगातार शासन प्रशासन से मुलाकात कर रहा है और अपनी मांगों को उनके सामने रख रहा है. निश्चित तौर से सरकार हम लोगों के प्रति सहानुभूति पूर्वक पक्ष में निर्णय लेगी. शिक्षामित्रों के सामने बड़ा संकट यह है कि जुलाई के महीने में बच्चों के एडमिशन, कॉपी किताब आदि के लिए काफी पैसे की आवश्यकता होती है और नौकरी चले जाने के बाद बड़ा संकट सामने है. इसको देखते हुए आगे श्री निषाद ने सातवें वेतन का बकाया धनराशि एरियर के रूप में शासन प्रशासन से अविलंब भुगतान करने की मांग की है ताकि तत्काल आर्थिक तंगी से जूझ रहे शिक्षामित्रों को निजात मिल सके। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट फैसले के बाद कल कवलित हुए शिक्षा मित्रों के परिजनों को आर्थिक मदद के साथ सरकारी नौकरी देने की मांग की.

इस कार्यक्रम में अविनाश कुमार, संतोष सिंह, धर्मेंद्र शर्मा, ईश्वरलाल ,सतीश चंद, रामनाथ ,दरबारी लाल मौर्या, लक्ष्मी नारायण वर्मा ,राकेश साहनी, अशोक चंद्रा ,राम भजन निषाद ,अजय कुमार यादव, दिनेश गुप्ता ,राम केसर, लक्ष्मी शंकर, राजेंद्र कुमार, राम केसर, अमरजीत ,मनोज यादव आदि दर्जनों शिक्षामित्र उपस्थित रहे.

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz