समाचार

जन संवाद में बाल दुर्व्यापार रोकने के लिए बहुस्तरीय प्रयासों की जरूरत बतायी गयी

गोरखपुर। मानव सेवा संस्थान सेवा और कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन फाउंडेशन के सहयोग से 26 फरवरी को होटल शिवाय में ‘ बाल दुर्व्यापार मुक्त भारत ‘ विषय पर जन संवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया. जन संवाद में पुलिस, एंटी ह्यूमन ट्रैफकिंग यूनिट, बाल कल्याण समिति, चाइल्ड लाइन और बाल संरक्षण से जुड़े सामाजिक संगठनों ने हिस्सा लिया।

जन संवाद में सेवा के निदेशक राजेश मणि ने चिंता व्यक्त करते हुऐ कहा कि मानव ही मानव को बेच रहा है. बाल तस्करी, बाल श्रम,रोग की तरह समाज मे फैलता जा रहा है. इसे हम सब को मिलकर समाप्त करना होगा तब जाकर बाल दुर्ब्यापार मुक्त भारत सम्भव हो पायेगा। प्लेसमेन्ट ऐजेंसी को देखना होगा कि उनके रजिस्ट्रेशन वैध है कि नही. आये दिन पढ़ने को मिलता है कि लोगों को टूरिस्ट बीजा पर विदेश काम करने के लिए भेज दिया जाता है और वे वहां शोषण के शिकार होते हैं. बाल संरक्षण को लेकर लोअर कोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक, प्रदेश सरकार से लेकर केंद्र सरकार तक सभी गंभीर है. जरूरत जमीनी स्तर पर कार्य करने की है. एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट को और मजबूत बनाना होगा, थाने के बाल कल्याण अधिकारी को चौकस रहना होगा, श्रम विभाग को नियमित रूम से अभियान चलाकर बाल श्रमिकों को मुक्त कराना होगा।

मुख्य अतिथि पुलिस उपमहानिरीक्षक राजेश डी मोडक ने कहा कि मानवीय संवेदना की जरूरत है. बाल श्रम, बाल तस्करी ,मानव तस्करी तभी रुकेगी
जब सभी साथ मिलकर कार्य करेंगे। अपने-अपने उत्तरदायित्व का निर्वहन संवेदित और जागरूक हो कर करें। श्री मोडक ने इंडो-नेपाल बॉर्डर का जिक्र करते हुए कहा कि भारत-नेपाल के बिच मित्रवत संबंध हैं. इसको देखते हुए हमें काम करना है. अफसोस है कि मानव ही मानव को बेचता है. इसे हम सभी को मिलकर रोकना है. यदि हम एक एक बच्ची को बचा लेते है तो कई पीढी सुरक्षित हो जाती है.


विशिष्ट अतिथि एसएसपी डॉ सुनील गुप्त ने कहा कि एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट एवं मानव सेवा संस्थान सेवा द्वारा प्रमुख जगहों पर रोजगार के लिए विदेश जाने वालों को जानकारी देने वाले फ्लैक्स लगाएं जाएँ। वह थाने स्तर पर एक इंस्पेक्टर को भी दायित्व देंगे कि विदेश जाने के पूर्व लोग वीज़ा,पासपोर्ट की जांच करा लें. पुलिस हर सम्भव सहयोग देने के लिए तैयार है. एसएसपी ने ये भी कहा कि जो हाई रिस्क एरिया है जैसे बड़हलगंज,खजनी,बांसगांव जहाँ से अधिक लोग विदेश जाते है वहां थाने स्तर से गांव स्तर तक जगरूकता का कार्य किया जायेगा।

जेजे बोर्ड के पूर्व सदस्य डॉ ओंकार तिवारी ने बच्चों से सबंधित कानून की जानकारी दी. जिला प्रोबेशन अधिकारी सर्वजीत सिंह ने महिला एव बच्चों से सम्बंधित योजनाओ के बारे में जानकारी दी. एडिशनल सीएमओ डॉ ए के प्रसाद ने रेस्क्यू किये गए बच्चों का मेडिकल और सरल बनाने की बात कही. एसएसबी के इंस्पेक्टर सुग्रीव प्रसाद गांव स्टार पर जागरूकता पर जोर दिया। एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट के प्रभारी भरद्वाज ने भी अपने कार्यो को प्रस्तुत किया।

इस मौके पर डॉ मुमताज़ खान,डॉ मिठाई लाल गुप्त ,प्लेसमेन्ट ऐजेंसी से सिराजुल हक़, पत्रकार मनोज कुमार सिंह,उषा दास ने भी अपने विचार रखे. जान संवाद में जी आर पी, रेलवे, पुलिस विभाग, आशा ज्योति केंद्र ,स्वयं सेवी संस्थान, निवर्तमान बाल कल्याण समिति से सहभागिता रही
मानव सेवा संस्थान सेवा से प्रोग्राम मैनेजर धर्मेंद्र सिंह एव रोहन सेन ने कार्यक्रम का सञ्चालन किया। रोहन सेन ने एक मूवी भी दिखाई जो बच्चों के ट्रैफिकिंग से संबंधित थी. इस मौके पर मानव सेवा संस्थान की लता मिस्र,प्रीति घोष, धर्मेंद्र पासवान, दुर्गेश कश्यप, सुधीर द्विवेदी आदि उपस्थित थे.

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz