समाचार

दस्तक अभियान में कालाजार और फाइलेरिया को भी शामिल करने की तैयारी

गोरखपुर. कोविड-19 संक्रमण के बीच स्वास्थ्य विभाग ने दस्तक और विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान की तैयारी शुरू कर दी है.  शासन स्तर से इस संबंध में प्रशिक्षकों का प्रशिक्षण कराया गया है जिसमें नये तौर-तरीकों से अभियान चलाने के बारे में विस्तार से जानकारी दी जा चुकी है।

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. श्रीकांत तिवारी ने बताया कि प्रशिक्षण में यह बताया गया है कि 1 जुलाई से 31 जुलाई तक चलने वाले दोनों अभियानों के दौरान फ्रंटलाइन वर्कर्स न तो किसी का दरवाजा छुएंगे और न ही कुंडी। घर के भीतर भी नहीं जाएंगे। बस संदेश और स्टीकर के जरिये दस्तक दिया जाएगा। पहली बार इस अभियान में कालाजार और फाइलेरिया बीमारियों को भी शामिल किया जा रहा है। अभियान के दौरान कोरोना, डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के प्रति भी आशा कार्यकर्ता लोगों को सचेत करेंगी। इस वर्चुअल प्रशिक्षण का आयोजन डब्ल्यूएचओ, यूनीसेफ और पाथ जैसी संस्थाओं के सहयोग से सोमवार को किया गया था।

मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि इस बार अभियान में फिजिकल डिस्टेंसिंग, हाथों की सफाई और मॉस्क की अनिवार्यता का खासतौर पर ध्यान रखना है। अभियान में चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, आईसीडीएस, ग्राम्य विकास एवं पंचायती राज विभाग, शिक्षा विभाग, नगर निगम/ शहरी विकास, कृषि विभाग, पशुपालन विभाग, दिव्यांग कल्याण विभाग, स्व्च्छ भारत मिशन, सूचना विभाग, संस्कृति विभाग एवं चिकित्सा व शिक्षा विभाग की सहभागिता होगी। अभियान संबंधित विस्तृत दिशा-निर्देश शासन स्तर से आना है।

उन्होंने बताया कि जनपद से जिला प्रतिरक्षण अधिकारी (एसीएमओ) डॉ. आईबी विश्वकर्मा, जिला मलेरिया अधिकारी डॉ ए के पांडेय, जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी के एन बरनवाल और डीसीपीएम रिपुंजय पांडेय व अन्य संबंधित अधिकारियों ने प्रशिक्षण में प्रतिभाग किया है।

प्रशिक्षण के प्रतिभागी जिला मलेरिया अधिकारी ने बताया कि अभियान के दौरान देखा जाएगा कि जिन घरों में 15 वर्ष से कम उम्र के बच्चे हैं उन घरों पर स्टीकर चस्पा किया जाएगा। अभियान के दौरान फ्रंटलाइन वर्कस साबुन की टिक्की साथ रख कर चलेंगे। अनिवार्य तौर पर मॉस्क का इस्तेमाल करना होगा। अभियान के दौरान ग्राम्य स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण समिति, संचारी रोगों व एईएस समूह की बैठक, मातृ बैठक और स्वयं सहायता समूह की बैठकों में 4-5 लोग ही शामिल होंगे।

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz