समाचार

जुलाई से हर ब्लॉक को कलस्टर में बांट कर होगा टीकाकरण

गोरखपुर। जुलाई माह में कलस्टर अप्रोच के जरिये टीकाकरण कार्यक्रम शुरू हो रहा है। हर ब्लॉक को कलस्टर में बांट कर टीकाकरण करवाया जाएगा। ऐसे में लोगों को प्रेरित कर ज्यादा से ज्यादा लाभार्थियों को जोड़ने में स्वयं सहायता समूहों और नेहरू युवा केंद्र के स्वयंसेवकों की अहम भूमिका होगी।

उक्त विचार जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी के.एन. बरनवाल ने व्यक्त किये। वह यूनिसेफ के सहयोग से आयोजित हुए वर्चुअल अभिमुखीकरण कार्यक्रम को गुरूवार को संबोंधित कर रहे थे। इस आयोजन के जरिये नेहरू युवा केंद्र से जुड़े स्वयंसेवकों और उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय आजीविका मिशन (यूपीएनआरएलएम) से जुड़े स्वयं सहायता समूहों को संवेदीकृत किया गया। सभी लोगों से अपील की गयी कि लोगों के बीच कोविड उपयुक्त व्यवहार और टीकाकरण से जुड़े प्रमुख संदेश पहुंचाएं।

वर्चुअल अभिमुखीकरण कार्यक्रम में यूनिसेफ के डीएमसी गुलजार त्यागी ने प्रस्तुति के माध्यम से कोविड उपयुक्त व्यवहार व टीकाकरण की महत्ता पर विस्तार से प्रकाश डाला। नेहरू युवा केंद्र संगठन की जिला युवा कल्याण अधिकारी सीमा पांडेय, जिला मिशन प्रबंधन इकाई के उपायुक्त अवधेश राम, पदाधिकारी विनोद और डीएमसी नीलम यादव ने अपील की कि लोगों को यह बताना है कि टीके का कोई कुप्रभाव नहीं होता है। टीका लगवाने के बाद 30 मिनट तक टीकाकरण केंद्र पर ही आराम करना है। टीका लगवाने के बाद भी दो गज की दूरी, मॉस्क के इस्तेमाल, हाथों की स्वच्छता और अन्य कोविड व्यवहारों को जारी रखना है।

जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी ने कहा कि जुलाई में टीकाकरण का जो अभियान चलने जा रहा है, वह तभी सफल होगा जबकि स्वयंसेवक और स्वयं सहायता समूह लोगों के बीच टीकाकरण के अनुकूल वातावरण तैयार करें। गांव के प्रभावशाली लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित कर उनका टीकाकरण करवाएं और उनकी सहायता से अन्य लोगों को भी प्रेरित करें। कोविड टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। टीके की दोनों डोज आवश्यक है। को-वैक्सीन की दूसरी डोज चार से छह सप्ताह के अंतराल पर, जबकि कोविशील्ड की दूसरी डोज 12 से 16 सप्ताह के अंतराल पर लगवानी है। साथ ही इस बात का ध्यान रखना है कि अगर किसी को कोविड का लक्षण दिख रहा है तो हेल्पलाइन नंबर 18001805145 एवं 104 नंबर पर कॉल करके प्रामाणिक जानकारी लें न कि सुनी-सुनाई बातों या सोशल मीडिया पर उपलब्ध अप्रामाणिक सूचनाओं पर ध्यान दें।

About the author

गोरखपुर न्यूज़ लाइन

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz