Spread the love

गोरखपुर।ऑल इंडिया महापदम नंद कम्युनिटी एजुकेटेड एसोसिएशन के शीर्ष नेतृत्व के निर्देश पर जिला इकाई गोरखपुर द्वारा गुरुवार को एसोसिएशन के फाउंडर मेंबर उमेश शर्मा नंद के पर्यवेक्षण एवं जिलाध्यक्ष आर डी नंद के नेतृत्व में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को संबोधित अलग-अलग ज्ञापन जिलाधिकारी के माध्यम से सौंपा गया।

प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन के माध्यम से एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने मांग किया है कि जिसकी जितनी आबादी उसकी उतनी भागीदारी के दृष्टिगत 2022 में जातिगत जनगणना कराई जाए क्योंकि इसकी आवश्यकता को देखते हुए उच्चतम न्यायालय एवं देश के उच्च न्यायालयों ने इसके औचित्य को उचित बताया है।

ऑल इंडिया महापदम नंद कम्युनिटी एजुकेटेड एसोसिएशन के पदाधिकारी ज्ञापन देते हुए

पदाधिकारियों ने कहा है कि विकास के सही नियोजन और क्रियान्वयन के लिए जातिगत आंकड़ों की जानकारी आवश्यक है। आंकड़ों के अभाव में कुछ जातियों के ऊपर हक मारने के आरोपो प्रत्यारोपो से सामाजिक वैमनस्यता उपज रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को संबोधित ज्ञापन में मांग की गई कि अन्य पिछड़े वर्ग के वर्गीकरण रिपोर्ट को यथाशीघ्र लागू की जाए। पदाधिकारियों ने कहा कि उत्तर प्रदेश में संख्या बल में सबसे भारी 41% आबादी वाला अति पिछड़ा समाज आजादी के 74 वर्ष बाद भी सामाजिक न्याय से वंचित है। काका कालेलकर आयोग, साथी छेदीलाल आयोग में श्रमिक दस्तकार और घरेलू नौकर जातियों को अत्यंत पिछड़ी जाति में शामिल करने की संस्तुति की थी। माननीय सर्वोच्च न्यायालय भी वर्गीकरण के पक्ष में है।

ज्ञापन देने वालें पदाधिकारियों में जिला संरक्षक नकछेद नंद, उमेश शर्मा, अशोक शर्मा नंद, सुरेंद्र शर्मा नंद, रामाश्रय शर्मा उर्फ भगत जी, लक्ष्मण शर्मा, देवेंद्र शर्मा, बचऊ नंद, संतोष शर्मा, बैजनाथ शर्मा आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *