Tuesday, May 17, 2022
Homeचुनावगोरखपुर-बस्ती मंडल की 41 में से 34 सीट पर भाजपा जीती

गोरखपुर-बस्ती मंडल की 41 में से 34 सीट पर भाजपा जीती

गोरखपुर। गोरखपुर-बस्ती मंडल की 41 विधानसभा सीटों में से 34 पर भाजपा जीत गई हैं। पिछले चुनाव में भाजपा को दोनों मंडलों में 37 सीट मिली थी।

गोरखपुर, देवरिया, कुशीनगर और संतकबीरनगर की सभी 26 सीट भाजपा ने जीती है।

सिद्धार्थनगर जिले की पांच सीटों में से दो-इटवा और डुमरियागंज सपा ने जीती जबकि बांसी, कपिलवस्तु भाजपा ने जीती। शोहरतगढ सीट पर भाजपा की सहयोगी अपना दल का प्रत्याशी विजयी रहा। इटवा विधानसभा क्षेत्र में बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री सतीश चन्द्र द्विवेदी चुनाव हार गए। सपा प्रत्याशी माता प्रसाद पांडेय ने उन्हें हराया।

बस्ती जिले में चुनावी परिणाम अन्य जिलों से उलट रहा। यहां की पांच में से चार सीट-कप्तानगंज, बस्ती, रूधौली और महदेवा सपा ने जीती है। भाजपा को सिर्फ हरैया में विजय मिली है।

महराजगंज जिले की पांच में से तीन सीट-सिसवा, महराजगंज और पनियरा भाजपा ने और एक सीट नौतनवा उसकी सहयोगी निषाद पार्टी ने जीती। फरेंदा सीट कांग्रेस के वीरेन्द्र चैधरी जीतने में कामयाब रहे।

गोरखपुर शहर सीट पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक लाख से अधिक मतों से विजयी हुए हैं। वर्ष 2017 के चुनाव मेें इस सीट पर भाजपा प्रत्याशी डाॅ राधा मोहन दास अग्रवाल 60 हजार से अधिक मतों से विजयी हुए थे।

गोरखपुर ग्रामीण सीट पर विपिन सिंह, पिपराइच में महेन्द्र पाल सिंह, कैम्पियरगंज में फतेहबहादुर सिंह, बांसगांव से विमलेश पासवान एक बार फिर चुनाव जीतने में कामयाब रहे। कैम्पियरगंज से फतेहबहादुर सिंह ने विजय हासिल कर सात बार विधायक बनने का रिकार्ड बनाया है।

खजनी सीट पर भाजपा के श्रीराम चौहान जीते हैं। भाजपा ने यहां सीटिंग विधायक संत प्रसाद का टिकट काट दिया था और श्रीराम चैहान को धनघटा से यहां लाकर चुनाव लड़ाया था। भाजपा की यह रणनीति सफल रही।

चिल्लूपार में भाजपा प्रत्याशी पूर्व मंत्री राजेश त्रिपाठी ने सपा प्रत्याशी विनय शंकर तिवारी को हरा दिया। विनय शंकर तिवारी पिछला चुनाव बसपा से जीते थे। इस चुनाव में वह सपा में आ गए थे। राजेश त्रिपाठी 2007 और 2012 में विनय शंकर तिवारी के पिता हरिशंकर तिवारी को भी हरा चुके हैं।

चौरीचैरा विधानसभा क्षेत्र में निषाद पार्टी के अध्यक्ष डाॅ संजय कुमार निषाद के बेटे श्रवण निषाद चुनाव जीत गए हैं। उन्होंने सपा प्रत्याशी बृजेश चन्द्र्र लाल को 41 हजार मतो से हराया। भाजपा के बागी प्रत्याशी अजय कुमार सिंह 29582 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर रहे। बसपा प्रत्याशी वीरेन्द्र को 24968 मत मिले।

देवरिया जिले की सभी सात सीट भाजपा ने जीत ली है। पिछले चुनाव में भाजपा ने छह सीट जीती थी। भाटपाररानी सीट पर पिछला चुनाव सपा से जीते आशुतोष उपाध्याय इस चुनाव में भाजपा प्रत्याशी सभाकुंवर से हार गए। योगी सरकार में कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही पथरदेवा से और मत्स्य मंत्री जय प्रकाश निषाद रूद्रपुर से जीत गए हैं। देवरिया में भाजपा के शलभ मणि त्रिपाठी, बरहज में दीपक मिश्र शाका, सलेमपुर में विजय लक्ष्मी गौतम और रामपुर कारखाना में सुरेन्द्र चैरसिया चुनाव जीते है।

कुशीनगर जिले में भाजपा छोड़ सपा में आए पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य हार गए हैं। फाजिलनगर से चुनाव लड़े स्वामी प्रसाद मौर्य को भाजपा प्रत्याशी सुरेन्द्र कुशवाहा ने हराया।

पडरौना से भाजपा के मनीष जैसवाल, खड्डा से विवेकानंद पांडेय, तमकुहीराज से डाॅ असीम राय, कुशीनगर से पीएन पाठक, रामकोला से विनय प्रकाश गौड़ और हाटा से मोहन वर्मा विजयी रहे। खड्डा से जीते विवेकानंद पांडेय और तमकुहीराज से जीते डाॅ असीम राय भाजपा की सहयोगी निषाद पार्टी से चुनाव लड़े थे।

तमकुहीराज विधानसभा सीट से दो बार लगातार चुने गए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू चुनाव हार गए।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments