Spread the love

लखनऊ। फिरोजाबाद जिले में प्लास्टिक कूड़ा इकट्ठा करने और कासगंज में रामायण पाठ में ड्यूटी लगाए जाने पर शिक्षकों ने तीखा रोष व्यक्त किया है। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष डा. दिनेश चन्द्र शर्मा ने ट्वीट कर कहा है कि कहीं कूड़ा बीनने तो कहीं रामायण पाठ के आदेश। अधिकारी बेसिक शिक्षा विभाग को लगा रहे हैं पलीता। इन अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवाही होनी चाहिए।

डा. शर्मा ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी फिरोजाबाद और मुख्य विकास अधिकारी कासगंज के आदेश की काॅपी शेयर करते हुए उक्त टिप्पणी की है। प्राथमिक शिक्षक सोशल मीडिया पर दोनों आदेशों के प्रति कड़ा एतराज जता रहे हैं।

फिरोजाबाद के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने जिले के सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों को जारी आदेश में कहा है कि ‘ 20 अक्टूबर को मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में स्वच्छ भारत कार्यक्रम पर गठित समिति की बैठक हुई जिसमें बेसिक शिक्षा विभाग को एक हजार किलोग्राम प्लास्टिक वेस्ट एकत्र किए जाने का लक्ष्य प्रदान किया गया। जिसके अन्तर्गत प्रत्येक विद्यालय से प्लास्टि वेस्ट यथा-पालीथिन, बोतल, पानी के पाउच, मास्क, ग्लास इत्यादि किसी थैले में एकत्र कर सम्बन्धित न्याय पंचायत के के पंचायत भवन पर जमा किया जाना है। ’

 

आदेश में आगे कहा गया है -‘ अतः प्रत्येक विकास खंड का लक्ष्य 100 किलोग्राम प्लास्टिक वेस्ट निर्धारित करने हुए निर्देशित किया जाता है कि आप अपने विकास खंड के प्रत्येक विद्यालय से प्लास्टिक वेस्ट यथा-पालीथिन, बोतल, पानी के पाउच, मास्क, ग्लास इत्यादि किसी थैले में एकत्र कर सम्बन्धित न्याय पंचायत के के पंचायत भवन पर जमा कराना सुनिश्चित करें और कृत कार्यवाही से अधेहस्ताक्षरी कार्यालय को अवगत कराएं। ’

https://twitter.com/DrDCSHARMAUPPSS/status/1450868046654959621

 

कासगंज के मुख्य विकास अधिकारी द्वारा जारी आदेश में कहा गया है ‘ महर्षि बाल्मीकि जयंती पर संकट मोचन धाम सैलई कासगंज में 20 और 21 अक्टूबर को बाल्मीकि रामायण का पाठ आयोजित किया गया है। रामायण पाठ में शिक्षक-शिक्षिकाओं की समयवार ड्यूटी लगायी जा रही है। आदेश के साथ 15 शिक्षक-शिक्षिकाओं के नाम दिये गए हैं और उनसे कहा गया है कि समय से आयोजन स्थल पर अपनी उपस्थिति सुनिश्चित करें।‘

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *