Monday, July 4, 2022
Homeस्वास्थ्यपुरूष नसबंदी पखवाड़े के पहले दिन आठ पुरूषों ने करायी नसबंदी 

पुरूष नसबंदी पखवाड़े के पहले दिन आठ पुरूषों ने करायी नसबंदी 

महराजगंज। जनपद में चार दिसंबर तक चलेगा महराजगंज। जिले में पुरुष नसबंदी पखवाड़ा मनाया जा रहा है जो चार दिसंबर तक चलेगा। पुरुष नसबंदी पखवाड़े को प्रभावी बनाने के लिए सभी आशा, एएनएम और आशा संगिनी को लगाया गया है। वह परिवार नियोजन कार्यक्रम में पुरुषों की भागीदारी बढ़ाने में जुटी हुई हैं। पखवाड़े के पहले दिन आठ पुरुषों को नसबंदी की सेवाएं दिलाई गयीं।

परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी व अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राकेश कुमार ने बताया कि ‘ पुरुषों ने परिवार नियोजन अपनाया, सुखी परिवार का आधार बनाया’ थीम पर आयोजित पुरुष नसबंदी पखवाड़े को सफल बनाने के लिए 2655 आशा कार्यकर्ता, 300 एएनएम तथा 96 संगिनी को लगाया गया है, जो परिवार पूरा कर चुके लोगों को स्थायी सेवाएं लेने के लिए प्रेरित कर रही हैं। इसमें भी पुरुष नसबंदी पर विशेष जोर है।

परिवार पूरा होने की दशा में अधिक से अधिक पुरुषों को प्रेरित कर नसबंदी की सेवा दिलाने के लिए सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों, ब्लाॅक प्रोग्राम मैनेजर ( बीपीएम) तथा ब्लॉक कम्यूनिटी प्रोसेस मैनेजर ( बीसीपीएम) को भी निर्देशित किया गया है।

परिवार नियोजन कार्यक्रम के सामग्री प्रबंधक मुकेश त्रिपाठी ने बताया कि पुरुष नसबंदी के लिए जिला संयुक्त चिकित्सालय, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बृजमनगंज, लक्ष्मीपुर तथा निचलौल पर प्रतिदिन सेवा उपलब्ध है। परतावल, फरेंदा, रतनपुर सहित अन्य सीएचसी पर आवश्यकता के अनुसार सेवा दिवस आयोजित होंगे।
उन्होंने बताया कि पखवाड़े के पहले दिन 22 नवम्बर को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र परतावल पर पांच, फरेंदा पर दो तथा निचलौल पर एक पुरुष लाभार्थी को प्रेरित कर नसबंदी की सेवा दिलाई गयी।

महराजगंज जिले में पुरुष नसबंदी की स्थिति

वर्ष———— लाभार्थी
2019-20——-58
2020-21——-26
2021-22——-83

पुरूष नसबंदी 

-नसबंदी केवल उनके लिए सही है जिन्हें भविष्य में कोई बच्चा नहीं चाहिए।
-नसबंदी सरल, सुरक्षित और बहुत ही असरदार तरीका है ।
-बिना चीरा टांका वाला पुरुष नसबंदी एक छोटा सा आपरेशन है।
इसमें शुक्राणुओं की नलिकाओं को बाँध दिया जाता है।
-इसमें कुछ ही मिनट लगते हैं,चीरे और टाँके की जरूरत नही होती।
-इसमें कोई गंभीर शिकायत या परेशानी नहीं होती।
-पुरुष नसबंदी के बाद यौन इच्छा व क्षमता पहले की तरह बनी रहती है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments