Tuesday, December 12, 2023
Homeसमाचारविवाह घर में शरण लिए थे बाढ़ पीड़ित, पिलर गिरने से तीन...

विवाह घर में शरण लिए थे बाढ़ पीड़ित, पिलर गिरने से तीन की मौत, एक घायल

सिद्धार्थनगर। डुमरियागंज थाना क्षेत्र के भरवठिया मुस्तहकम गांव में रविवार की रात बाढ़ प्रभावित लोगों से भरे विवाह घर का पिलर टूट जाने की घटना में तीन लोगों की मौत हो गई और एक महिला गंभीर रूप से जख्मी हो गई। यह विवाह घर 14 वर्ष पूर्व बना था और पिछले वर्ष ही इसकी मरम्मत हुई थी। लोगों का आरोप है कि निर्माण और मरम्मत कार्य में अनियमितता की देन है कि तीन लोगों की जान चली गयी।

भरवठिया मुस्तहकम गांव बाढ़ से घिरा है। बाढ़ में घर डूब जाने से बाढ़ प्रभावित लोगों ने गांव में बने विवाह घर में शरण ली थी। यहां पर बुधिराम व राजकुमार के परिवार के साथ गांव के चार दर्जन लोग शरण लिए थे। रविवार रात 12 बजे जब लोग सो रहे थे कि विवाह घर के अंदर का पिलर गिर गया और बाढ़ पीड़ित मलबे में दब गए। इस घटना में राजकुमार के पुत्र राजसिंह चैहान (13) की मौके पर मौत हो गई। बुधिराम की पुत्री पूनम (18) व रिंका (24), सुमन (60 ) पत्नी दुखी गंभीर रूप से घायल हो गई। सभी घायलों को ंपीएचसी भनवापुर लाया गया। घायल रिंका, पूनम को मेंडिकल कॉलेज के लिए रेफर कर दिया। मेडिकल कॉलेज गोरखपुर पहुंचते-पहुंचते रिंका और पूनम की मौत हो गई।

घटना की जानकारी मिलने पर जिलाधिकारी संजीव रंजन व कप्तान अमित कुमार आनंद सोमवार को मृतकों के परिजनों से मिलने पहुुंचे। दोनों अफसरों ने परिजनों को मदद का आश्वसन दिया। डीएम ने विवाह घर का निरीक्षण कर मरम्मत में लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ जांच के लिए जिला विकास अधिकारी, अधिशाषी अभियंता पीडब्ल्यूडी, एई डीआरडीए तथा खंड विकास अधिकारी भनवापुर की चार सदस्यीय टीम गठित कर एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया।

इस विवाह घर का निर्माण वर्ष 2007-08 में विधायक निधि से पैक्सफेड संस्था द्वारा कराया गया था। करीब चार लाख की लागत से वर्ष 2021-22 में मरम्मत का कार्य किया गया था।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments