Spread the love

मऊ। राहुल सांकृत्यायन सृजन पीठ में आठ जुलाई को एक कार्यक्रम में भाकपा माले के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य और समकालीन जनमत के प्रधान संपादक रामजी राय ने कवि-लेखक जयप्रकाश धूमकेतु की चार पुस्तकों- ‘ एरिक हाब्स वाम- एक वैश्विक दृष्टा ‘, कविता संग्रह ‘ रोशनी का खत ‘ और ‘ सोने की लगाम ‘ तथा व्यंग्य संग्रह ‘ मुखौटों की मंडी का लोकार्पण किया।

इस मौके पर दीपांकर भटटाचार्य ने कहा कि भाजपा शासन में साहित्यकार, पत्रकार आंदोलनकारियों पर यूएपीए लगाकर जेल मे डाला जा रहा है। भीमा कोरेगांव, सीएए -एनआरसी आंदोलन में मानवाधिकार कार्यकर्ताओं व राजनीतिक कार्यकर्ताओं को फर्जी मुकदमे में जेलों में बंद कर दिया गया है। हमें इनकी रिहाई के लिए आवाज उठानी होगी। उन्होंने कहा कि योगी राज में दलितों पर बड़े पैमाने पर हमले हो रहे हैं। राजनीतिक विरोधियों को निशाना बनाया जा रहा है। हमें जनता को संविधान व लोकतंत्र बचाने की लड़ाई में गोलबंद करना होगा।

समकालीन जनमत के प्रधान संपादक रामजी राय ने कहा कि स्टेन स्वामी जनता के अधिकारों के साथ0 साथ आदिवासियों के जल, जंगल, जमीन की लड़ाई, विस्थापन के खिलाफ लड़ाई के अगुआ थे। सांस्थानिक क्रूरता व अमानवीय हत्या की ऐसी मिशाल दुनिया में शायद ही कहीं मिले। गोष्ठी में भाकपा माले राज्य सचिव सुधाकर यादव,खेग्रामस के राष्ट्रीय अध्यक्ष कामरेड श्रीराम चौधरी, किसान महासभा के राष्ट्रीय सचिव ईश्वरी प्रसाद कुशवाहा भी मौजूद रहे। ओमप्रकाश सिंह ने आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *