Tuesday, May 17, 2022
Homeसमाचारगुआक्टा ने महाविद्यालय शिक्षकों को प्रोफ़ेसर बनाने की प्रक्रिया में देरी पर...

गुआक्टा ने महाविद्यालय शिक्षकों को प्रोफ़ेसर बनाने की प्रक्रिया में देरी पर आक्रोश जताया

गोरखपुर। गोरखपुर विश्वविद्यालय संबद्ध महाविद्यालय शिक्षक संघ (गुआक्टा) के वरिष्ठ शिक्षकों का एक प्रतिनिधि मंडल आज दोपहर 12 बजे कुलपति ऑफिस में कुलपति से मिला एवं अपनी समस्याओं के संदर्भ में चर्चा की।

कुलपति से मुलाकात में प्रोफेसर पद पर चयन हेतु विषय विशेषज्ञ नामित किए जाने में अनावश्यक विलंब पर शिक्षकों द्वारा आक्रोश व्यक्त किया गया। गुआक्टा प्रतिनिधियों ने कहा कि एक नवंबर 2021 को उत्तर प्रदेश शासन द्वारा जारी राजाज्ञा के आलोक में विश्वविद्यालय को विशेषज्ञ देने में इतनी देर क्यों हो रही है ? इलाहाबाद राज्य विश्वविद्यालय, सिद्धार्थ विश्वविद्यालय कपिलवस्तु, वीर बहादुर सिंह विश्वविद्यालय जौनपुर आदि ने शिक्षकों के मांग पर विशेषज्ञों का पैनल प्रदान कर दिया है और अन्य विश्वविद्यालयों द्वारा भी विशेषज्ञों के पैनल जारी करने की प्रक्रिया जारी है। महाविद्यालय के शिक्षकों को प्रोफेसर पदनाम जा दिए जाने के लिए राज्य सरकार ने विधिक प्रक्रिया जारी कर दिया है। इस प्रक्रिया के अंतर्गत राजकीय महाविद्यालयों में एवं उपरोक्त विश्वविद्यालयों में महाविद्यालय शिक्षकों को प्रोफ़ेसर बनाने की प्रक्रिया आरंभ हो गई है। दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय ने यह प्रक्रिया शुरू नहीं की है जोकि खेद का विषय है। महाविद्यालय शिक्षकों ने प्रक्रिया को अविलंब शुरू करने की मांग की।

इसके जवाब में कुलपति जी ने शिक्षकों को आश्वासन दिया कि कमेटी गठित कर यह प्रक्रिया प्रारंभ की जाएगी। उन्होंने इसके लिए कुलसचिव को निर्देशित भी किया।

कुलपति ने पिछले वर्ष का मूल्यांकन बकाया एवं इस वर्ष का मूल्यांकन का होने वाला भुगतान के संबंध में स्पष्ट निर्देश जारी करने की बात कही एवं शिक्षकों के बकाए के भुगतान का आश्वासन दिया।

प्रतिनिधिमंडल में गुआक्टा अध्यक्ष डॉ के.डी. तिवारी, महामंत्री डॉ. धीरेंद्र सिंह, संयुक्त सचिव अनूप श्रीवास्तव, बुद्ध महाविद्यालय कुशीनगर से डा. अमृतांशु शुक्ला, डॉ. आमोद राय, डॉ राघवेंद्र मिश्र, डॉ.अंबिका तिवारी,डा.सतेन्द्र गौतम , डा.आर. पी. पाण्डेय, निरंकार तिवारी, संत बिनोवा पी.जी. कॉलेज से डॉ वाचस्पति द्विवेदी, बी.आर डी पीजी कॉलेज बरहज से डॉ विजय नाथ पांडे, डॉ रविन्द्र उपाध्याय,विनित कुमार पांडेय, बीआरडीपीजी कॉलेज देवरिया से एम आर पी सिंह , यू.एन.पी.जी.कालेज पडरौना से डॉ ए.एन. त्रिपाठी जी, महात्मा गांधी पीजी कॉलेज गोरखपुर से डॉ अवनीश एवं डॉ आलोक कुमार, बापू पी.जी कॉलेज पीपीगंज से राकेश सिंह एवं पवित्रा डिग्री कॉलेज से डा शिव विहारी पांडेय ने अपने कॉलेज का प्रतिनिधित्व किया।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments