Monday, December 5, 2022
Homeसमाचारव्यापार में घाटे, कर्ज और सूदखोरों से तंग व्यापारी ने पत्नी और...

व्यापार में घाटे, कर्ज और सूदखोरों से तंग व्यापारी ने पत्नी और तीन बच्चों के साथ जहर पीकर जान दी

गोरखपुर. व्यापार में घाटे, कर्ज और सूदखोरों से तंग व्यापारी ने पत्नी, बेटे और दो बेटियों के साथ जहर पीकर आत्महत्या कर ली. सभी ने तीन फ़रवरी की सुबह चाय में जहर मिलाकर पी लिया. व्यापारी रमेश गुप्ता इसके बाद ट्रेन के आगे कूदने के लिए चल दिया. उसका शव तीन किलोमीटर दूर रेल पटरी पर मिला. इस परिवार में अब सिर्फा बड़ा बेटा रजत उर्फ़ सोनू बचा है जो घटना के वक्त घर पर नहीं था. वह गोंडा गया हुआ था.

राजघाट क्षेत्र के हसन गंज मोहल्ला निवासी 50 वर्षीय रमेश गुप्ता घी और तेल का कारोबार करते थे। उन्होंने बाजार और बैंक से कर्ज लिया था। परिवार और रिश्तेदारों के मुताबिक व्यापार में काफी नुकसान होने के चलते उन्होंने बाजार से सूद पर भी कर्ज लिया था। इसके पहले उन्होंने नमकीन का भी कारोबार किया था जो नुकसान के चलते बंद हो गया था। बैंक और सूदखोरों के दबाव के चलते रमेश गुप्ता काफी परेशान चल रहे थे। आए दिन उनका सूदखोरों से विवाद होता रहता था.

दो दिन पहले भी सूदखोरों ने घर पर आकर उनसे विवाद किया था। यह भी जानकारी मिली है कि रमेश गुप्ता से भी बहुत से लोगों ने कर्ज लिया था और वे कर्ज लौटा नहीं रहे थे।

व्यापारी रमेश गुप्ता का शव रेल पटरी के किनारे मिला

रचना ने मौत पूर्व बयान में बताया कि पूरे परिवार ने जहर खाया था। रमेश इस आशंका में कि जहर का उस पर असर नहीं हुआ है, रेल से कट कर जान देने के लिए निकल गया. सूरजकुंड के पास रेल पटरी पर पहुंचते-पहुंचते उसकी मौत हो गई.

रमेश ने पहली पत्नी की मौत के बाद दूसरी शादी की थी. पहली पत्नी से बड़ा पुत्र रजत घटना के वक्त गोंडा गया हुआ था.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments