Friday, January 27, 2023
Homeसमाचारकिसानों की मांग नहीं सुन रहे हैं मोदी-योगी

किसानों की मांग नहीं सुन रहे हैं मोदी-योगी

मगहर (संतकबीर नगर). भारतीय किसान यूनियन (भानु) की बस्ती और गोरखपुर मण्डल की कार्यकारिणी की बैठक आज मगहर के कबीर चौरा पर हुई जिसमें यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर भानु प्रताप सिंह का 17 मई की उपस्थिति में होने वाली  राष्ट्रीय महापंचायत की तैयारी पर विचार-विमर्श किया गया.बैठक में किसान नेताओं ने मोदी-योगी सरकार पर किसानों की मांग न सुनने का आरोप लगाया और कहा कि कुशीनगर, देवरिया, गोरखपुर की बंद चीनी मिलों को चलवाने का वादा भाजपा ने पूरा नहीं किया.

यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव कपिलदेव राय और प्रदेश प्रवक्ता रणजीत सिंह ने कार्यकारिणी को संबोधित करते हुए कहा कि विगत दो वर्षों से राष्ट्रीय अध्यक्ष का आगमन बस्ती और गोरखपुर के मण्डल में नही हुआ है. इसलिए सभी पदाधिकारियों का उत्तरादायित्व बनता है कि इस राष्ट्रीय महापंचायत को सफल बनाया जाय और आने वाले समय मे केंद्र और राज्य जो किसानों के साथ मनमानी कर रही है उसका जबाब दिया जाय।

गोरखपुर जिलाध्यक्ष माहेश्वर सिंह ने इस मौके पर कहा कि सरदार नगर चीनी मिल पर पेराई सत्र 1996-97 किसानों का गन्ने का भुगतान लगभग तिरानबे करोड़ रुपये बाकी है जिसे दिलाने के लिए सरकार कोई ठोस कदम नही उठा रही है. जनपद गोरखपुर को खरीफ की फसल के समय सूखा ग्रस्त नही करके किसानों के साथ अन्याय किया गया था और बीमा कम्पनी को फायदा पहुँचाया जा रहा है.

कुशीनगर के जिलाध्यक्ष रामचन्द्र सिंह ने कहा कि जनपद कुशीनगर में किसानों की हालत बिल्कुल दयनीय हो गयी है.अभी किसानों का गन्ना खेतों में पड़ा पड़ा सूख रहा है और गन्ना समितियों द्वारा समय से पर्ची नही आने के वजह से किसान अपने गन्ने को औने पौने दामों में बेचने पर मजबूर हो रहे हैं. प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी किसानों के हितों के लिए कोई कारगर उपाय नही अपना रही है जिसके वजह से किसान अपने आप को असहाय महसूस कर रहा है. भाजपा का कहना है कि हम किसानों की आय दोगुनी कर देंगे मगर हकीकत में ऐसा दिखता नही है. यह सरकार सिर्फ जुमलेबाजी करती है. अब किसान भी इस सरकार के जुमलेबाजी को समझ गया है.

उन्होंने कहा कि किसानों द्वारा लक्ष्मीगंज बन्द चीनी मिल को चलवाने के लिए इकसठ दिन अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन किया गया लेकिन योगी सरकार से किसानों को लक्ष्मीगंज बन्द चीनी मिल चलवाने के लिए कोई आश्वासन नही मिला. लक्ष्मीगंज परिक्षेत्र के किसानों ने मन बना लिया है कि जो ” मिल  चलवायेगा, वोट इसी को जाएगा”, “लक्ष्मीगंज बन्द चीनी मिल चालू करो,वरना कुर्सी खाली करो”.

इस मौके पर गोरखपुर मण्डल प्रभारी रामाश्रय यादव, हरीश चंद्र पांडेय,जिला महासचिव, गोरखपुर, रामबृक्ष पटेल,जिलाध्यक्ष, संतकबीर नगर के साथ साथ अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments