Friday, January 27, 2023
Homeचुनावदलित-पिछड़ा वर्ग के हाथों में होगी 2022 की सत्ता की कुंजी :...

दलित-पिछड़ा वर्ग के हाथों में होगी 2022 की सत्ता की कुंजी : अनुप्रिया पटेल

कुशीनगर। अपना दल (एस) की राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय वाणिज्य व उद्योग राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल ने कहा है कि 2022 में उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में अपना दल (एस) निर्णायक भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि 2022 में दलित-पिछड़ा वर्ग के हाथों में सत्ता की कुंजी होगी।

अनुप्रिया पटेल कुशीनगर के बुद्ध इंटर कॉलेज के प्रांगण में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रही थीं। कुशीनगर पहुँचने पर उन्होंने महापरिनिर्वाण स्थल पर जाकर भगवान बुद्ध की पूजा अर्चना की।

श्रीमती अनुप्रिया पटेल ने जन सभा में कहा कि दुनिया को पहला लोकतंत्र देने वाले मल्ल वंश की प्राचीन नगरी कुशीनगर में आकर गर्वांवित महसूस कर रही हूं। आज का दिन बहुत ही ऐतिहासिक है। आज ही के दिन 24 साल पहले भगवान बुद्ध की जन्मस्थली लुम्बिनी को यूनेस्को ने विश्व धरोहर के तौर पर शामिल किया।
कल संविधान निर्माता बाबा साहब डॉ.भीम राव आंबेडकर जी की पुण्यतिथि है। कल आप सभी अपने-अपने घरों में बाबा साहब की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए उनके त्याग-बलिदान एवं उनके द्वारा देश के वंचितों, पिछड़ों, महिलाओं को दिए गए हक-अधिकार पर चर्चा करें। छोटी-छोटी संगोष्ठी का आयोजन करें। एवं उनके बताए गए रास्ते पर चलने का संकल्प लें, यही बाबा साहब के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। वो बाबा साहब ही थे, जिन्होंने महिलाओं को अधिकार दिलाया। बाबा साहब सदैव कहा करते थे-“मैं किसी समुदाय की प्रगति महिलाओं की प्रगति के आधार पर मापता हूं।”

अनुप्रिया पटेल

 

उन्होंने कार्यकर्ताओं से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए पूरी तरह से कमरकस कर उतरने का आह्वान करते हुए कहा कि 2022 में हमें गोरखुपर मंडल के कुशीनगर जनपद में भी अपना दल (एस) का परचम लहराना है।  कुशीनगर में नीला- केसरिया पताका की गति को तेज करना है। तभी दलित-पिछड़ों के संघर्ष को गति मिलेगी।

उन्होंने कहा कि  “ये मंथन का समय है। आप खुद सोचिए, आज संसद में अपना दल एस के मात्र दो प्रतिनिधि और उत्तर प्रदेश विधानसभा में 9 प्रतिनिधि एवं विधान परिषद में एक प्रतिनिधि हैं। बावजूद इसके आपके हक-अधिकार के लिए ये प्रतिनिधि निरंतर आवाज उठा रहे हैं। ये मंथन का विषय है कि जातीय जनगणना को मजबूती से कौन उठा रहा है। ये मंथन का विषय है कि नीट के आल इंडिया कोटा में ओबीसी आरक्षण को कौन मजबूती से उठाया। इन सभी ज्वलंत मुद्दों पर जब आप मंथन करेंगे तो आपको अपना दल (एस) सबसे ऊपर नजर आएगा।

उन्होंने कहा कि पिछड़ों के विकास के लिए हमारी पार्टी अल्पसंख्यक मंत्रालय की तर्ज पर ओबीसी मंत्रालय की मांग भी निरंतर उठा रही है और मुझे आशा है कि पिछड़ों व दलित समाज के विकास को लेकर सदैव चिंतित रहने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी पिछड़ों के इस ज्वलंत मांग को भी पूरा करेंगे।

जन सभा की की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष विनोद पटेल और संचालन स्वामी नाथ सिंह चौधरी ने की। इस मौके पर राष्ट्रीय महासचिव आरबी सिंह, किसान मंच के राष्ट्रीय महासचिव कौशल सिंह, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य गिरजेश पटेल, बौद्धिक मंच के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ.अशोक सिंह, प्रदेश महासचिव दिनेश पटेल, राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेश पटेल, प्रदेश प्रवक्ता राजेश श्रीवास्तव, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य राम नरेश पटेल, मऊ जिलाध्यक्ष सुजीत पटेल, व्यापार मंच के प्रदेश सचिव रमेश चंद्र पटेल, जिलाध्यक्ष विनोद सिंह, देवरिया जिलाध्यक्ष संजय सिंह, वाशिंद्र सिंह, जिला उपाध्यक्ष अनुज तिवारी, श्रीकांत सिंह, सिबलू संजीव सिंह, व्यासमुनि गौड़, डॉ.परशुराम पटेल, रामप्रवेश शर्मा, विनय सिंह, विजय सिंह, जिला सचिव अंकुर शर्मा ,लालजी कन्नौजिया, रामबेलास पटेल, महिला मंच जिलाध्यक्ष आरती गोंड, जिला उपाध्यक्ष अंशू सिंह पटेल, सुनैना सिंह, नरोज गौतम इत्यादि लोग उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments