Monday, July 4, 2022
Homeसमाचारराज्यसमानता, भाईचारा, और पंथनिरपेक्ष भारत के लिए संघर्ष को मजबूत करना होगा...

समानता, भाईचारा, और पंथनिरपेक्ष भारत के लिए संघर्ष को मजबूत करना होगा : दीपंकर भट्टाचार्य

लखनऊ। डॉ अंबेडकर के 66वें महापरिनिर्वाण दिवस पर सोमवार को भाकपा-माले के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने हजरतगंज स्थित अम्बेडकर प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। माल्यार्पण के बाद सभा का आयोजन किया गया।

सभा को संबोधित करते हुए कॉमरेड दीपंकर भट्टाचार्य ने बाबा साहब के सिद्धांतो को याद करते हुए कहा कि आज का ये दिन हमारे लिए एक अलग महत्व रखता है क्योंकि 1992 में भाजपा-आरएसएस के लोगों ने संविधान पर हमला करने के लिए और देश की साझी विरासत की धरोहर बाबरी मस्जिद को गिराने के लिए इसी दिन को चुना था। आज भाजपा-आरएसएस जैसी फासीवादी ताकतें संविधान के सभी लोकतांत्रिक उसूलों को खत्म कर देना चाहती है। आज हमें फासीवादी ताकतों के खिलाफ लड़ते हुए संविधान के मूल भाव समानता, भाईचारा, और पंथनिरपेक्ष भारत के लिए संघर्ष को मजबूत करना होगा और बाबा साहब के सपनों को मंजिल तक पहुँचाने के लिए इस देश में “फासीवाद का नाश हो, अमन इन्साफ का राज हो” का नारा बुलंद करना होगा।

इस मौके पर भाकपा माले के पोलित ब्यूरो सदस्य कॉमरेड रामजी राय, पार्टी की केंद्रीय कमेटी के सदस्य कॉमरेड श्रीराम चौधरी, ईश्वरी प्रसाद कुशवाहा, पार्टी के उत्तर प्रदेश राज्य सचिव कॉमरेड सचिव सुधाकर यादव, राज्य कमेटी सदस्य कॉमरेड रमेश सिंह सेंगर, कॉमरेड मीना सिंह, आइसा के उत्तर प्रदेश राज्य अध्यक्ष आयुष श्रीवास्तव, राज्य सचिव शिवम सफ़ीर, लखनऊ जिला अध्यक्ष कॉमरेड प्राची, जिला सचिव कॉमरेड आदर्श, और कॉमरेड नितिन, निखिल, अंजलि, तुषार, अदनान आदि मौजूद रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments