Wednesday, January 19, 2022
Homeचुनावसत्ता में आने पर सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट लागू करेंगे -ओमप्रकाश...

सत्ता में आने पर सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट लागू करेंगे -ओमप्रकाश राजभर

कुशीनगर। गरीबों को सरकारी अस्पतालों में मुफ्त इलाज ,सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट को लागू करने , सभी सरकारी तथा प्राइवेट विद्यालयों में एक पाठ्यक्रम, स्नातक तक फ्री शिक्षा, पुलिस को सप्ताहिक छुट्टी तथा 8 घंटे की ड्यूटी, 5 साल के बिजली बिल माफ, राशन फ्री, पत्रकार आयोग , पुरानी पेंशन बहाली नहीं करा लूंगा तब तक चैन से नहीं बैठूंगा। मैंने हमेशा गरीबों के हक और हितों की लड़ाई लड़ी है। उसी उद्देश्य को लेकर पूरे उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में महापंचायत रैली आयोजन करने का उद्देश्य है।

यह बातें सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने खड्डा विधानसभा क्षेत्र के धरनी पट्टी खेल के मैदान में भागीदारी संकल्प मोर्चा की महापंचायत रैली में कही।

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा था कि भाजपा की सरकार अपने कार्यकाल के अंत में तीन काला कृषि कानून बिल को वापस ले लेगी। उनकी राजनैतिक अनुभव सच साबित हुआ। उन्होंने कहा कि किसानों की माली हालत काफी खराब है। लागत से अधिक आय नहीं हो रहा है। सरकार द्वारा समर्थन मूल्य नहीं मिल रहा है। दूध, गन्ना, सब्जी आदि की बिक्री से किसानों का भला नहीं हो रहा है।

श्री राजभर ने कहा कि प्रदेश के भारतीय जनता पार्टी सरकार कहती है कि हिंदू खतरे में है जबकि सच्चाई यह है कि हिंदू खतरे में नहीं है बल्कि भारतीय संविधान, आरक्षण तथा योगी-मोदी की कुर्सी खतरे में हैं।
उन्होंने कहा कि सपा की सरकार आएगी तो सभी घर की महिला मुखिया 500 ₹ की जगह पर 3 गुना पेंशन देने का काम करेगी। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पहले नंबर का झूठा , योगी आदित्यनाथ को दूसरे नंबर का झूठा बताते हुए श्री राजभर ने कहा कि कुशीनगर के लोगों को अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की नहीं जरूरत है बल्कि इनको स्नातक तक फ्री शिक्षा, किताब, हॉस्टल की आवश्यकता है। यहां के गरीबों को मुफ्त में सरकारी अस्पतालों में इलाज की आवश्यकता है।

सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट लागू कर आयोग बनाने की बात कहते हुए कहा कि जितनी जिसकी हिस्सेदारी उतनी उसकी सत्ता में भागीदारी के फार्मूले पर ओमप्रकाश राजभर की सहमति से समाजवादी पार्टी से गठबंधन हुआ है। उन्होंने अगला महापंचायत रैली  योगी आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर में करने का ऐलान करते हुए कहा कि वहां मैं महापंचायत रैली करके यह साबित कर दूगा कि जब तक भाजपा की विदाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं।

उन्होंने योगी आदित्यनाथ पर 19 मुकदमे दर्ज हैं। अपनी सरकार बनते ही उन्होंने इन मुकदमों की वापसी करा ली। इनके सरकार में 81 विधायकों पर मुकदमे दर्ज हैं। यह अपराध मुक्त नहीं यह अपराध युक्त सरकार है। जब मैंने इनकी कैबिनेट से इस्तीफा दिया तो पहली महा रैली मऊ में आयोजित की जिसमें आने वाले भविष्य की राजनीति की दिशा दशा बदल गई।

आज किसान खेत में डालने के लिए खाद डाई ₹500 की जगह पर 1200 रुपए में मिल रही है। खाद के पैकेट का वजन भी काम कर 45 किलो ग्राम हो गया है। यह किसानों की सबसे बड़ा नुकसान है।
उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में जिस तरह ममता बनर्जी ने कहा था कि खेला होबो उसी तर्ज पर भाजपा के साथ समाजवादी पार्टी खदेड़ा होबो कार्यक्रम चलाएगी।

महापंचायत रैली की अध्यक्षता डॉक्टर रमेश यादव और संचालन रामकोला के विधायक रामानंद बौद्ध ने किया। सभा को पूर्व संसद बालेश्वर यादव , पूर्व मंत्री राधेश्याम सिंह , राम प्रसाद चौधरी , पूर्व विधायक पूर्णमासी देहाती , शंभू प्रसाद चौधरी, लक्ष्मी नारायण उर्फ मिठाई यादव , विजय कुशवाहा आदि ने संबोधित किया।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments