Friday, December 9, 2022
Homeसमाचारइंजीनियरों के लिखित आश्वासन पर माने अजय लल्लू, तीन दिन बाद धरना...

इंजीनियरों के लिखित आश्वासन पर माने अजय लल्लू, तीन दिन बाद धरना खत्म किया, नारायणी की कटान रोकने का काम जारी

कुशीनगर. अमवाखास तटबंध के किलोमीटर 7.9 पर पंचायत रामपुर बरहन के टोला लक्ष्मीपुर के सामने नारायणी नदी से हो रही कटान को रोकने के लिए तीन दिन से धरने पर बैठे क्षेत्रीय विधायक एवं कांग्रेस के पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रभारी अजय कुमार लल्लू ने 23 सितम्बर की शाम धरना स्थगित कर दिया.

उन्होंने अधीक्षण अभियंता के के राय तथा अधिशाषी अभियंता भरत राम से एक घंटे की वार्ता के बाद लिखित आश्वासन पर धरना स्थगित किया. दोनों अभियंताओं ने लिखित आश्वासन दिया कि किसी भी हाल में तटबंध को कटने नहीं दिया जायेगा और कटान रोकने का काम जारी रहेगा.

कांग्रेस विधायक अजय कुमार लल्लू ने कहा कि तटबंध को बचाने में  यदि तनिक भी लापरवाही हुई तो पुनः आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा.

नारायणी नदी (बड़ी गंडक) अमवाखास तटबंध के किलोमीटर 7.9 पर पंचायत रामपुर बरहन के टोला लक्ष्मीपुर के पास कटान कर रही थी. पूर्व में कटान रोकने का कार्य नहीं होने के कारण नदी की धारा तटबंध के पास पहुँच गई थी. तटबंध खतरे  में पड़ गया था.

नारायणी नदी ने सबसे पहले शनिवार की सुबह किमी 7.9 के सामने लगभग सौ मीटर के दायरे में रिंग बांध को काटा और बैकरोलिंग के जरिये बांध से सटकर बहने लगी. कटान की जद में आये 30 परिवारों को इसके कारण उजाड़ना पड़ा.

कटान की जानकारी होने पर क्षेत्रीय विधायक अजय कुमार लल्लू शनिवार की सुबह चार बजे ही बंधे पर पहुँच गए और खुद ग्रामीणों के साथ बचाव कार्य शुरू कर दिया. उन्होंने मौके से प्रमुख सचिव सिंचाई को फोन कर तटबंध के हालात की जानकारी दी.

समय रहते बचाव कार्य नही किये जाने से नाराज कांग्रेस विधायक अजय कुमार लल्लू तटबंध पर ही ग्रामीणों के साथ धरने पर बैठ गए.

इसके बाद कटान स्थल पर बोल्डरों की डंपिंग कर बचाव कार्य में तेजी आयी.  एनडीआरएफ की टीम भी गांव पहुँच गई.

सोमवार को नारायणी नदी के डिस्चार्ज में कमी आई जिससे कटान धीमा हो गया.  अधीक्षण अभियंता केके राय, अधिशाषी अभियंता भरत राम के साथ चार सहायक अभियंता तथा छह अवर अभियंता बंधे पर जमे हुए है. बोल्डरों की पर्याप्त मात्रा आ जाने के बाद कटे हिस्से को रिक्रूव करने के कार्यो में भी तेजी आ गयी है.

बाढ़ खंड के इंजीनियरों से वार्ता करते कांग्रेस विधायक अजय कुमार लल्लू

विधायक श्री लल्लू सोमवार को लगातार तीसरे दिन धरने पर बैठे रहे. उनका आरोप था कि बार-बार कटान की तरफ ध्यान दिलाने के बावजूद सरकार की उदासीनता के नाते तीस परिवारों को बेघर होना पड़ा। जबतक बंधा पूरी तरह सुरक्षित नही हो जाता धरना जारी रहेगा। उपजिलाधिकारी तमकुही अरविंद कुमार ने विधायक से धरना समाप्त करने की गुजारिश की लेकिन विधायक अपनी मांग पर अड़े रहे, देर शाम अभियंताओं द्वारा लिखित आश्वासन दिए जाने के बाद उन्होंने धरना समाप्त किया.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments