जनपद

अमित हत्या कांड के खुलासे के लिए राज्यपाल से मिले परिजन

कोठीभार पुलिस दुर्घटना मान कर रही थी तफ्तीश

सिसवा बाजार ( महराजगंज)23 अगस्त।  सिसवा के बहुचर्चित अमित हत्याकांड के तीन माह बीतने के बाद पुलिसिया निष्क्रियता के कारण खुलासा नही होने से  निराश परिजनों ने राज्यपाल से मुलाकात कर न्याय की गुहार लगाई है।

स्थानीय पुलिस शुरुआत से ही इस मामले को दुर्घटना मान कर तफ्तीश कर रही है।
21 मई को कोठीभार थानांतर्गत ग्रामसभा राजवल मदरहां निवासी अमित कुमार की दिन में 12 बजे हत्या हो गई थी। अगर इस मामले की पुलिस गंभीरता से जाँच करती तो बहुत सारे चेहरे बेनकाब हो सकते थे परंतु पुलिस शुरू से इस मामले को दुर्घटना मान बैठी। पुलिसिया उदासीनता से निराश परिजन इस हत्या कांड के खुलासे  के लिए राज्यपाल से मिल कर न्याय की गुहार लगाई है।

मंगलवार को अमित की माँ दुर्गावती देवी ,भाई डॉ अनित कुमार ने राज्यपाल को पत्रक सौंपा।
25 वर्षीय अमित ने छोटी उम्र में ही व्यवसाय के मामले में एक ऊँचा मुकाम हासिल कर लिया था। वह राजवल मदरहां निवासी सिसवा विकास खंड के पूर्व ब्लाक प्रमुख, वर्तमान ग्रामप्रधान दुर्गावती देवी व लेखपाल अशोक कुमार के तीन संतानों में सबसे बड़ा पुत्र था।उसके नाम से ग्रामीण रसोई गैस एजेंसी,ईंट भट्ठा, देशी शराब की तीन दुकानों के साथ साथ उसने प्रॉपर्टी के कारोबार में भी पैसा लगाया था। 21मई को रायपुर स्थित अपने गैस एजेंसी कार्यालय में बैठा था उसी दौरान लगभग 11:30 बजे के करीब किसी गणेश नामक व्यक्ति के फोन कॉल रिसीव करने के बाद बाइक पर सवार हो कर कही निकल गया था।उसके एक घण्टे बाद कोठीभार थाने से आधा किलोमीटर दूर सोनबरसा ग्रामसभा में सुनसान इलाके में अमित का शव मिलने की सूचना मिली।जो देखते ही देखते जंगल की आग की तरह पुरे नगर में फैल गई थी।सुचना पाकर पुलिस के आला अधिकारी भी मौके का मुआयना किया था।परन्तु तीन माह बीतने के बाद भी आजतक परिणाम शून्य है।