समाचार

कोल्हुई पुलिस ने 37 हजार पीड़ित पक्ष को दिलाकर रफा-दफा कर दिया था केस

लड़की और उसके दोस्त को पीटने, अश्लील पोज देने के लिए विवश करने और उसका वीडियो बनाने का मामला
महराजगंज, 19 जुलाई। जिले के कोल्हुई थाना क्षेत्र में एक लड़की और उसके दोस्त की तीन युवकों द्वारा बुरी तरह पीटे जाने, उन्हें अश्लील पोज देने के लिए विवश कर उसका वीडियो बना कर सोशल मीडिया में वायरल करने की घटना में  पुलिस की जबर्दस्त लापरवाही सामने आई है। मामले की जानकारी होने पर सम्बन्धित थाने ने कार्रवाई करने के बजाय आरोपियों से पीड़ित पक्ष को 37 हजार रूपए दिलाकर केस को रफा-दफा कर दिया था। बाद में मामला खुल जाने और आईजी के जानकारी होने पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया और दो युवकों की गिरफ्तार किया।
जनपद के कोल्हुई थाना क्षेत्र के टेढी जंगल में एक लड़की अपने दोस्त के साथ गई थी। वहां उन्हें तीन युवकों ने पकड़ लिया और उन्हें डंडे से बुरी तरह पीटा। यही नहीं युवकों ने दोनों को आपत्तिजनक पोज देने के लिए विवश किया और उसका वीडियो बनाया। यह वीडियो उन्होंने सोशल मीडिया पर अपलोड भी कर दिया।
यह घटना नौ दिन पहले की है। पीड़ित लड़की ने घटना की जानकारी अपने पिता को दी तो उसने थाने में तहरीर दी। कोल्हुई पुलिस ने इस वीडियो के आधार पर दो आरोपियों को पकड़ा लेकिन उनके खिलाफ न केस दर्ज किया न उनकी गिरफ्तारी की। पुलिस ने 37 हजार रूपए पीड़ित पक्ष को दिलाकर मामले को रफा-दफा कर दिया। चर्चा है कि पुलिस कर्मियों ने आरोपियों से केस रफा दफा करने के नाम पर वसूली की।
उधर यह वीडियो पत्रकारों के पास पहुंची तो उन्होंने इसकी जानकारी आईजी को दी। आईजी के निर्देश पर महराजगंज के पुलिस कप्तान ने मामले की जानकारी की तो घटना की सचाई सामने आई। उनके निर्देश पर पीड़िता का बयान दर्ज किया गया और दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया।
मंगलवाल को पुलिस कार्यालय में एसपी आरपी सिंह ने घटना के बावत जानकारी देते हुये बताया कि कुछ दिनों पूर्व कोल्हुई थाना क्षेत्र के टेढ़ी जंगल में युवक-युवती के साथ दो युवकों ने मारपीट की और युवती का वीडियो बना कर उसे वायरल कर दिया गया। इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक आशुतोष शुक्ला भी थाने पर पहुंच पीड़िता के परिजों से बात की और मातहतों को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये वीडियो बनाने वाले दोनों युवको बृजेश एवं शोभनाथ के विरुद्ध 323, 504, 506, एससी एसटी एक्ट, पास्को एक्ट व आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है। इस घटना के तीसरे अभियुक्त की अभी गिरफ्तारी नहीं हुई है।

Leave a Comment