समाचार

गोरखपुर में बिजली व्यवस्था ठीक करने के लिए 14.34 करोड़ की योजना का शिलान्यास

मुख्यमंत्री ने स्कूली बच्चों में बांटा यूनिफार्म, बैग व किताब, 400 शहरी गरीबों को दिया बिजली कनेक्श्न
20 लोगों को मिला प्रधानमंत्री आवास योजना का प्रमाण पत्र
शहीद सीआरपीएफ जवान की पत्नी का दिया चार लाख का चेक, परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का आश्वासन
गोरखपुर, 9 जुलाई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर दौरे के पहले दिन आठ जुलाई को स्कूल चलो अभियान के तहत बच्चों में यूनिफार्म, किताबें और बैग बांटे, शहरी गरीब परिवारों को निःशुल्क बिजली कनेक्शन और प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को प्रमाण दिया। उन्होंने काश्मीर में आतंकवादी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवान साहब शुक्ल के परिजनों से भेंट की और शहीद की पत्नी का चार लाख का चेक व दो लाख का टीडीआर दिया।

शहीद सीआरपीएफ जवान साहब शुक्ल के घर परिजनों के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
शहीद सीआरपीएफ जवान साहब शुक्ल के घर परिजनों के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री गोरखपुर आने पर सबसे पहले मझगांवा गांव जाकर सीआरपीएफ के शहीद जवान साहब शुक्ल के परिजनों से मिले। इस मौके पर उन्होंने शहीद जवान के परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार देश की रक्षा और आतंकवाद के खिलाफ लड़ते हुए शहीद हुए यूपी के जवानों के परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का निर्णय लिया है। शहीद परिवार को प्रदेश सरकार 20 लाख की आर्थिक सहायता पहले ही दे चुकी है।

index 16
इसके बाद मुख्यमंत्री ने प्राथमिक विद्यालय कनईल में स्कूल चलो अभियान के तहत स्कूली बच्चों में यूनिफार्म, किताबें और बैग बांटे। उन्होंने अपने हाथ से 20 बच्चों को यूनिफार्म, बैग व किताबें दी। यहां पर कुल 728 बच्चों में यूनिफर्मा, बैग व किताबें बांटी गई। मुख्यमंत्री ने अफसरों को निर्देश दिया कि 31 जुलाई तक प्रदेश के 1.62 लाख स्कूलों के 1.52 करोड़ बच्चों में किताबें, यूनिफार्म व बैग बांट दिया जाय।

index 15
इन दोनों कार्यक्रमों में शिरकत करने के बाद मुख्यमंत्री मदन मोहन मालवीय प्रोद्योगिकी विश्वविद्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने पौधरोपण किया और विश्वविद्यालय के आईटीआर हाल में मालवीय रिसर्च कान्क्लेव का उद्घाटन किया। उन्होंने यहां पर आयोजित कार्यक्रम में शहरी गरीबों को निःशुल्क बिजली कनेक्शन देने की योजना के तहत 400 लोगों को कनेक्शन दिया। सुगम संयोजन योजना के तहत 50 लाभाथियों को भी प्रमाण पत्र दिया गया। इस मौके पर उन्होंने गोरखपुर में बिजली व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए 14.34 करोड़ की योजना का शिलान्यास किया। इस योजना के तहत गोरखपुर के सभी 33 /11 केवीए के विद्युत उपकेन्द्रों को 33 केवी की दो-दो लाइनें दी जाएगीं ताकि एक के ब्रेक डाउन होने पर दूसरे से बिजली दी जा सके। इससे गोरखपुर को अबाध 24 घंटे बिजली मिल सकेगी। उन्होंने इस कार्यक्रम में देवरिया के दो बिजली स्टेशनों का लोकार्पण किया और महराजगंज के दो बिजली उपकेन्द्रों का शिलान्यास किया।
इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के साथ मौजूद बिजली मंत्री ने कहा कि हमने 100 दिन में दस हजार खराब ट्रान्सफरों को बदला है। प्रदेश में बिजली राजस्व में 35 फीसदी की वृद्धि हुई है।
मुख्यमंत्री ने आखिर में दीदउ गोरखपुर विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के 20 लाभार्थियों को प्रमाण पत्र दिया। इस योजना के तहत 568 लाभार्थियों को आवास की स्वीकृति दी गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस योजना के तहत प्रदेश में दस लाख आवास बनेगे। इस कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री रात्रि विश्राम के लिए गोरखनाथ मंदिर चले गए।

Add Comment

Click here to post a comment