जनपद

चार दिन से गायब युवक की नहर में मिली लाश

सिसवा बाजार (महराजगंज)31जुलाई। कोठीभार थाना क्षेत्र के ग्राम सभा गौरा निपनिया के सिसवा टोला निवासी हीरा साहनी (25)  पुत्र कमल साहनी का चार दिन बाद खडडा थाना क्षेत्र के सीसई गोपाल नहर फाटक पर सोमवार की सुबह मिला. वह शुक्रवार को सुबह  बाइक से जल चढ़ाने इटहिया मंदिर पर गया था और तभी से उसका पता नहीं चल रहा था.
चचेरे भाई ओमप्रकाश साहनी ने बताया कि हीरा साहनी शुक्रवार को प्रातः आठ बजे के करीब अपने बाइक से इटहिया मंदिर बाबा भोले शंकर को जल चढ़ाने गया था।उधर से ढाई बजे के करीब वापसी में निचलौल थाना क्षेत्र के चन्ना गुलरभार के पहले ही संदिग्ध परिस्थितियों में नहर में डूब गए।उसी दिन शाम को 6 बजे के करीब चन्ना पुलिस चौकी से फोन कर हम लोगो को बुलाया कर बताया गया कि बाइक लावारिश हालत में नहर के किनारे पड़ी है. सम्भावना है कि बाइक चालक नहर में डूब गया।बाइक पहचानने के बाद हीरा की तलाश शुरू हुआ।परंतु तीन दिन तक खोजने के बाद कही पता नही चला।सोमवार को सुबह सात बजे खडडा थाना क्षेत्र के सीसई गोपाल नहर फाटक पर हीरा की लाश मिली।शरीर पर सिर्फ बनियान व फटा हुआ शर्ट था।

हीरा की पत्नी के अनुसार उनके पास 5400 सौ रूपए था।शव से पैंट और जांघिया गायब होना मामले को संदिग्ध बना रहा है।साथ ही अगर दुर्घटना है तो बाइक रोड पर रह गया और हिरा नहर में कैसे चला गया ?  निचलौल थानाध्यक्ष टी पी श्रीवास्तव का कहना की तहरीर मिल चुकी है. पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ  कहना उचित होगा।
कोठीभार थाना क्षेत्र के ग्राम सभा गौरा निपनिया के टोला सिसवा निवासी कमल साहनी के दो पुत्र में बड़ा हिरा साहनी के बाल्यावस्था में ही बाप का साया सिर से उठ गया।और वो अपने 15 वर्ष के अल्प आयु में माँ राजकली और छोटे भाई अर्जुन उर्फ़ गोलू के साथ घर की जिम्मेदारी संभाल लिया।वह घर चलने के लिए दिल्ली, मुम्बई,लुधियाना कमाने जाने लगा।माँ ने बेटे को जिम्मेदार बनते देख कर 2013 में घुघली निवासी तीरथ साहनी के बेटी सीमा के साथ विवाह कर दिया था।अभी आठ माह पहले हीरा के घर में नन्हे बालक की किलकारी गूंजी थी।घर परिवार आभाव में भी बहुत खुशहाल जीवन व्यतीत कर रहे थे। हीरा अब बाहर जाना छोड़ पास के ईंट भट्ठे पर मजदूरी करने लगा था।सब कुछ ठीक ठाक चल रहा था लेकिन अचानक इस परिवार पर दुखों की चट्टान गिर पड़ी.

Leave a Comment