समाचार

चौरी चौरा में दलित युवकों को जलाने पर आक्रोश, प्रदर्शन

अम्बेडकरवादी छात्रसभा और पूर्वांचल सेना ने फूंका प्रदेश सरकार का पुतला
प्रदेश में दलित उत्पीड़न की बढ़ती घटनाओ के लिए वर्तमान सरकार को बताया जिम्मेदार

गोरखपुर, 13 अक्टूबर। चौरी चौरा थाना क्षेत्र के डुमरी खास ग्राम में पेट्रोल डालकर जिन्दा जलाये गए दो युवकों के मामले में पुलिसिया लापरवाही और प्रदेश में दलितों पर लगातार बढ़ रहे हिंसक घटनाओ से आक्रोशित अम्बेडकरवादी छात्रसभा और पूर्वांचल सेना ने प्रदेश सरकार और ध्वस्त कानून कानून व्यवस्था का प्रतीकात्मक पुतला दहन किया।

अम्बेडकर चौक पर हुये इस विरोध प्रदर्शन के दौरान अम्बेडकरवादी छात्रसभा के प्रदेश अध्यक्ष अमर सिंह पासवान ने कहा की देश भर में दलितों पर हो रहे हमले,उनकी जमीन पर अवैध कब्जे और तमाम तरीके के प्रताड़नाओ की बढ़ती संख्या से दलित अपने को सुरक्षित महसूस नही कर रहा हैं। उन्होंने कहा की दलितों पर जुर्म करने के साथ साथ सत्ता का दामन थाम चुके दलित जनप्रतिनिधि और निष्क्रिय अनुसूचित जनजाति आयोग भी बराबर के जिमेदार हैं।
पूर्वांचल सेना अध्य्क्ष धीरेन्द्र प्रताप ने कहा की चौरी- चौरा में दलित युवको को जिन्दा जलाने जाने की घटना अकेली नही है। उत्तर प्रदेश में सपा की सरकार बनने के बाद हुए जिला पंचायत और ग्राम प्रधान चुनाव में एक जाती विशेष को पुलिसिया सपोर्ट के साथ खुली गुंडई की छूट देकर समाजवादी पार्टी ने गाँव गाँव में ये झगड़ा फैलाया है।सपा समर्थन प्रत्याशी को वोट न देने वालो की हत्या, मारपीट, बलात्कार,जमीन कब्जाने की घटनाये पूरे प्रदेश में लगातार हो रही है और इसे लेकर लोगो में आक्रोश है , स्थिति जल्द ही नहीं सुधरी तो ये आक्रोश गृहयुद्ध में बदल सकता है। उन्होंने जिन्दा जलाये गए युवाओं के परिवारो के लिए 10 -10 लाख रुपये की आर्थिक सहयोग की मांग की ।
विरोध प्रदर्शन में पिंकू कुमार ,अमित कुमार,सोनू कुमार,पंकज कुमार, सचिन पासवान,अजय कुमार, हीरालाल, अजय कुमार, सुरेन्द्र भर्ती,सागर पासवान, उमाशंकर आर्य, वीर सिंह, विकास कुमार, रानू सिंह, अंचलेश गौण, योगेन्द्र प्रताप, बालमुकुंद वर्मा, सुनील पासवान , मंजेश कुमार ,सत्येंद्र प्रताप,अवनीश भारती रवि पासवान समेत भरी संख्या में युवा उपस्थित रहे ।⁠⁠⁠⁠

Leave a Comment