समाचार

जिंदा जलाए गए दूसरे दलित युवक नर्वदा पासवान की भी मौत 

गोरखपुर, 19 अक्टूबर। चौरीचौरा थाना क्षेत्र के डुमरी खास में दो दलितों को जिंदा जलाए जाने के मामले में पीजीआई लखनऊ में जिंदगी और मौत से लड़ते हुए दूसरे पीड़ित नर्वदा पासवान की सांसे आज दिन के 2:00 बजे लखनऊ पीजीआई में थम गईं।

विजयादशमी की रात संतोष और नर्वदा को उनके सीमेंट पाइप फैक्ट्री पर सोते वक्त पेट्रोल डालकर जला दिया गयाथा। दोनों को इलाज के लिए लखनऊ स्थित पीजीआई में भर्ती कराया गया था। संतोष ने पहले ही घटना के तीसरे दिन दम तोड़ दिया था जबकि आज नर्वदा ने भी आखिरी साँसे ली। इस घटना में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है जबकि एल अभियुक्त अभी भी पकड़ा नहीं जा सका है।

इस घटना की जानकारी होने पर अनुसूचित जाति / जनजाति आयोग के अध्यक्ष भी मौके पर पहुँचे थे, जिन्हें स्थानीय लोगो के आक्रोश का सामना करना पड़ा था। आज दूसरे युवक की मौत की सुचना पाकर पूर्वांचल सेना और अम्बेडकरवादी छात्रसभा ने इसपर गहरा दुख और आक्रोश व्यक्त किया है ।
इसके पहले पीड़ित परिजनों से मिलने और 3 लाख की आर्थिक सहायता देने आये बसपा कोआर्डिनेटर घनश्याम खरवार को अमर सिंह पासवान और धीरेंद्र प्रताप ने ज्ञापन सौंप कर उन्हें इस मामले को बतौर विपक्ष विधानसभा, लोकसभा में उठाने की मांग की । इस दौरान भारी संख्या में अम्बेडकरवादी छात्रसभा और पूर्वांचल सेना के कार्यकर्त्ता मौजूद रहे ।⁠⁠⁠⁠