राज्य

तमाम प्रयासों के बावजूद चुनाव मैदान से वापस नहीं आए भाजपा और हियुवा के बागी

भाजपा ने छह और बागी प्रत्याशियों को निकाला, हियुवा के 150 कार्यकर्ता रालोद में शामिल
गोरखपुर, 25 फरवरी। चुनाव के आखिरी दौर तक भाजपा नेतृत्व बागी नेताओं को काबू में नहीं कर पाने के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई करने लगा है। कल छह और बागी प्रत्याशियों को पार्टी से निकाल दिया गया। इनमें पडरौना, सिसवा और शोहरतगढ़ से चुनाव लड़ रहे प्रत्याशी में शामिल हैं। उधर हिन्दू युवा वाहिनी के 150 से अधिक कार्यकर्ता संगठन से इस्तीफा देकर कैम्पियरगंज से रालोद के टिकट पर चुनाव लड़ रहे गोरख सिंह के साथ आ गए हैं।
पूर्वांचल में टिकट वितरण को लेकर भाजपा में भारी अंसतोष देखने को मिला था। तकरीबन हर सीट से भाजपा के बागी प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतर गए। पूर्वांचल में हिन्दू युवा वाहिनी ने भी भाजपा और अपने सरपरस्त योगी आदित्यनाथ के खिलाफ बगावत कर दिया और 13 स्थानों पर प्रत्याशी उतार दिए और चार स्थानों पर बागी प्रत्याशियों का समर्थन कर दिया।
भाजपा और हिन्दू युवा वाहिनी के के बागी प्रत्याशियों को मनाने के लिए अखिरी समय तक भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने कोशिश की लेकिन ज्यादा सफलता नहीं मिली। भाजपा के राष्टीय अध्यक्ष अमित शाह, ओम माथुर, प्रदेश अध्यक्ष केशव मौर्य ने तमाम बागी नेताओं से बातचीत की और उन्हें चुनाव मैदान से वापस बुलाया लेकिन कुछ नेता ही तैयार हुए। इसमें गोरखपुर के सहजनवा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे अश्विनी त्रिपाठी प्रमुख हैं। उन्होंने नामांकन वापस ले लिया। बरहज से पूर्व मंत्री के बेटे दीपक मिश्र भी मान गए और चुनाव नहीं लड़े लेकिन कुशीनगर जिले की तमकुही सीट से नन्द किशोर मिश्र और श्रीकांत मिश्र को भाजपा नेतृत्व मना नहीं पाया। दोनों मजबूती से चुनाव लड़ रहे हैं। इसी जिले की पडरौना सीट से पूर्व सांसद रामनगीना मिश्र के बेटे परशुराम मिश्र, हिन्दू युवा वाहिनी के नेता पप्पू पांडेय भी चुनाव लड़ रहे हैं। खड्डा में विधायक विजय दूबे टिकट नहीं मिलने से नाराज तो हुए लेकिन चुनाव नहीं लड़े। वह चुनाव में सक्रिय भी नहीं हैं। यहां पर हिन्दू युवा वाहिनी के अजय गोविन्द राव शिशु बागी बन चुनाव लड़ रहे हैं और भाजपा के सामने मुश्किल पैदा कर रहे हैं।
महाराजगंज की सिसवा सीट पर आरके मिश्रा के चुनाव लड़ने से भाजपा प्रत्याशी के लिए कड़ी चुनौती पेश आ रही है। इसी तरह गोरखपुर के कैम्पियरगंज में भाजपा से टिकट नहीं मिलने पर गोरख सिंह रालोद से चुनाव लड़ रहे हैं। कैम्पियरगंज में 22 फरवरी की अजित सिंह की सभा में उन्होंने हिन्दू युवा वाहिनी के 150 कार्यकर्ताओं और नेताओं को अपने पाले में खींच लिया और उन्हें रालोद में शामिल करा दिया। इन नेताओं में हिन्दू युवा वाहिनी के ब्लाक संयोजक वृजनारायन सिंह, ब्लाक उपाध्यक्ष रामनवमी, सुनील भारती, देवेन्द्र कुमार, व्यास सिंह आदि के नाम प्रमुख हैं।
स्ंतकबीर नगर जिले की खलीलाबाद सीट से गंगा सिंह सैंथवार और सिद्धार्थनगर जिले की शोहरतगढ़ सीट से राधा रमण त्रिपाठी भाजपा के बागी प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं। अब इन दोनों को पार्टी से निकाल दिया गया है।
इसके अलावा पांचवे और छठवें चरण के कुछ और बागी प्रत्याशियों को भाजपा ने पार्टी से निकाल दिया है। इनमें आजमगढ़ की फूलपूर सीट से चुनाव लड़ रहे रामसूरत राजभर, दीदारगंज से अर्चना यादव व रणविजय सिंह चौहान, पडरौना से परशुराम मिश्र, सिसवा से राकेश मिश्र हैं।

भाजपा के बागी प्रत्याशी 
कैम्पियरगंज-गोरख सिंह
पिपराइच-अनीता जायसवाल
नौतनवा-सदामोहन उपाध्याय
तमकुही-नन्द किशोर मिश्र , श्रीकांत मिश्र

खलीलाबाद -गंगा सिंह सैंथवार

पडरौना -परशुराम मिश्र

सिसवा-आरके मिश्रा

शोहरतगढ़ -राधा रमण त्रिपाठी

हिन्दू युवा वाहिनी के बागी गुट के उम्मीदवार

गोंडा सदर-महेश तिवारी
बस्ती सदर -सुधा ओझा
झांसी सदर-अरविन्द वर्मा
चौरीचौरा -वीरेन्द्र तिवारी
फरेन्दा -जितेन्द्र शर्मा
पनियरा -श्यामसुन्दर दास
खड्डा-अजय गोविंद राव शिशु
पडरौना-अजय कुमार पांडेय उर्फ पप्पू पांडेय
हाटा-वृजमोहन वर्मा उर्फ कवि जी
रामपुर कारखाना-आनन्द शाही
मधुबन -देवेन्द्र सिंह परिहार
मउ सदर-अजीत सिंह चंदेल
मुबारकपुर-हरिवंश मिश्रा

 

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz