समाचार स्वास्थ्य

तीन महीने से सीज अस्पताल में हो रहा था मरीजों का आपरेशन

शिकायत पर छापे में मिलीं पांच महिला मरीज
अस्पताल संचालक व महिला चिकित्सक हिरासत में, अस्पताल फिर सीज

नेबुआ नौरंगिया (कुशीनगर) , 10 अप्रैल। तीन महीने से सीज अस्पताल में मरीज भर्ती किए जा रहे थे और आपरेशन भी हो रहा था। यह तब पता चला जब शिकायत पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने एक बार फिर इस अस्पताल पर छापा मारा। छापे में आपरेशन किए गए पांच मरीज सहित सात मरीज मिले।
छापे के दौरान अस्पताल का संचालक भाग गया लेकिन एक घंटे बाद पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। इसके साथ ही एक महिला चिकित्सक को भी हिरासत में लिया गया है। अस्पताल में भर्ती मरीजों को जिला अस्पताल भेज दिया गया और अस्पताल को फिर सीज कर दिया गया।
नेबुआ नौरंगिया क्षेत्र के कोटवा में स्थित इस अस्पताल के बारे में तीन माह पहले सीएमओ से शिकायत की गई थी कि इसे बिना लाइसेंस संचालित किया जा रहा है और प्रशिक्षित चिकित्सकों द्वारा मरीजों का आपरेशन किया जाता है। अस्पताल में आपरेशन के लिए जरूरी संसाधन व उपकरण भी नहीं हैं फिर भी आपरेशन कर मरीजों की जान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।

IMG-20170409-WA0002

शिकायत पर सीएमओ ने कार्रवाई की और अस्प्ताल पर छापा डाला। छापे में शिकायत सही पायी गई और अस्प्ताल को सीज कर दिया गया। अस्पताल संचालन को कारण बताओ नोटिस जारी की गई और मुकदमा भी दर्ज किया गया।
इस कार्रवाई के बावजूद अस्पताल कुछ दिन बाद फिर संचालित होने लगा। फर्क सिर्फ इतना आया कि सामने का दरवाजा बंद रहने लगा और मरीजों को देखने और भर्ती करने का कार्य अस्पताल के पिछले दरवाजे से होने लगा।

यह देख कुछ लोगों ने इस बार शिकायत डीएम से की। डीएम ने सीएमओ को कार्रवाई करने का निर्देश दिया। सीएमओ ने सीएचसी प्रभारी को मौके पर जाकर जांच करने को कहा। सीएचसी प्रभारी ने जाकर देखा तो शिकायत सही पायी।

IMG-20170409-WA0004

इसके बाद उन्होंने सीएमओ और पुलिस को जानकारी दी। मौके पर सीएमओ सुदर्शन सोनकर, सीओ खड्डा आरबी सिंह और नेबुआ नौरंगिया के एसओ नवीन कुमार सिंह भी मौके पर पहुंच गए। अस्पताल में आपरेशन कर लिटाए गए पांच मरीज मिले जबकि दो मरीजों को डिप चढ़ रहा था। इन मरीजों में पांच महिलाएं थीं। सभी मरीजों को एम्बुलेंस मंगाकर जिला अस्पताल भेज दिया गया और अस्पताल में मौजूद मिलीं एक महिला चिकित्सक को हिरासत में ले लिया गया। अस्पताल के संचालक भी एक घंटे बाद हिरासत में ले लिए गए। अस्पताल को फिर से सीज कर दिया गया है।

Add Comment

Click here to post a comment