समाचार

प्रभारी चिकित्साधिकारी के तबादले के विरोध में कर्मचारियों ने धरना-प्रदर्शन किया

पडरौना, 21 जुलाई. नेबुआ नौरंगिया सीएचसी के प्रभारी चिकित्साधिकारी (एम ओ आई सी ) को हटा कर उनकी जगह पूर्व में तैनात चिकित्सक को एमओआईसी बनाये का विरोध करते हुए कर्मचारियों ने आज सीएचसी गेट पर धरना-प्रदर्शन किया. बाद में कर्मचारी सीएमओ आफिस भी पहुंचे और वहां धरना दिया।
सीएमओ कुशीनगर ने शुक्रवार को नेबुआ नौरंगिया सीएचसी के एमओआईसी  डॉ विमलेन्दु भूषण को स्थानांतरित करते हुए उनकी जगह पर पूर्व में यहाँ तैनात रहे डॉ ए पी गुप्ता को तैनात कर दिया। इसका विरोध कर्मचारियो द्वारा किया जा रहा है. कर्मचारियो की मांग है कि दबाव में हुए एमओआईसी के स्थानांतरण को रोका जाय और यदि उनका तबादला रोका नहीं जा सकता तो डॉ ए पी गुप्ता की जगह किसी दूसरे डाक्टर  की तैनाती की जाये। इस दौरान एआरओ रामप्रताप पाल, बृजेश उपाध्याय, डॉ राघवेंद्र पाण्डेय, डॉ परवेज आलम, मुकेश तिवारी धर्मेन्द्र गुप्ता व आशा कर्मी उपस्थित रहे।
तबादले का विरोध का मुख्य कारण सीएचसी की भूमि पर कब्ज़ा का मामला है. सी एच सी नेबुआ नौरंगिया कोटवा में स्थित है।इसी के बगल में पूर्व ब्लाक प्रमुख के प्रतिनिधि का मेडिकल स्टोर भी है। कर्मचारियों का कहना है कि सपा सरकार में एमओआईसी डॉ ए पी गुप्ता की तैनाती के दौरान हॉस्पिटल की कुछ ज़मीन पर कब्ज़ा कर पूर्व प्रमुख प्रतिनिधि ने अपना आवास बनवा लिया. इसका विरोध वर्तमान एमओआईसी द्वारा न सिर्फ किया जाता रहा है बल्कि एसडीएम खड्डा सहित सी एम ओ कुशीनगर को अवगत कराते हुए अतिक्रमण मुक्त कराये जाने की मांग भी की जाती रही है। इससे खार खाये प्रमुख प्रतिनिधि द्वारा कई आरोप भी लगा कर उन्हें हटाने व् अपने चहेते डॉ की तैनाती की कोशिश लगातार की जाती रही है।

अभी कुछ दिनों पूर्व सर्प दंश से हुए एक बालक की मृत्यु के मामले में डॉक्टरों पर चिकित्सकीय लापरवाही का आरोप लगाते हुए धरना-प्रदर्शन हुआ था।

Leave a Comment