Templates by BIGtheme NET
Home » जनपद » महापौर ने बडे बकायेदारों के दुकानों को सील करने का आदेश दिया
नगर निगम गोरखपुर
नगर निगम गोरखपुर

महापौर ने बडे बकायेदारों के दुकानों को सील करने का आदेश दिया

गोरखपुर 18 जनवरी. गोरखपुर के महापौर  सीताराम जायसवाल ने नगर निगम की दुकानों एवं भवनों के किराये की संतोषजनक वसूली न होने पर नाराजगी प्रकट की है. उन्होंने बडे बकायेदारों के दुकानों को सील करने का आदेश दिया है.

आज रेन्ट विभाग एवं कर विभाग की वसूली तथा नगर निगम सम्पत्तियों पर अवैध कब्जे, नगर निगम की खाली पड़ी भूमि पर अतिक्रमण, नगर निगम की सम्पत्तियों पर अनावश्यक लम्बित मुकदमों के सम्बन्ध में महापौर ने अधिकारीयों के साथ बैठक की. महापौर  सीताराम जायसवाल ने कहा कि कहीं न कहीं अधिकारियों एवं कर्मचारियों की कमजोरी के कारण नगर निगम को आर्थिक हानि के साथ ही साथ लगभग 90 करोड़ रूपये बकाया की वलूली नहीं किया गया. इसके कारण नगर निगम आर्थिक संकट में होने के कारण विकास कार्य नहीं करा पा रहा है।

महापौर ने सभी  अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कड़ाई के साथ निर्देश दिया कि सभी अपने-अपने कार्य क्षेत्र में जाए और सम्बन्धित बकायेदारों से स्वयं मिलकर के 10 दिन के अन्दर सभी बकाये की वसूली करें। महापौर ने एक कड़ा फैसला लेते हुए यह भी आदेशित किया कि 28 जनवरी तक यदि नगर निगम के दुकानदारों द्वारा जिनका किराया 25 हजार से अधिक बकाया है नगर निगम में नहीं जमा किया जाता है तो उनकी दुकानें सील कर दिया जाए। साथ ही यह भी कहा कि जिन बड़े बकायेदारों द्वारा बकाया जमा करने में हीला हवाली की जाती है उनका फोन नम्बर लेकर सम्बन्धित कर अधीक्षक/निरीक्षक सीधे मुझसे बात कराये।
उन्होंने गृहकर, जलकर एवं सीवरकर के बड़े बकायेदारों की सूची उपलब्ध कराते हुए वसूली पर कड़ाई किया जाए. जिन बड़े बकायेदारों द्वारा एवं सरकारी बड़े बकायेदार जिनसे वसूली में कोई दिक्कत हो रही हो उनकी सूची एवं मोबाइल नम्बर मुझे उपलब्ध कराया जाए मैं स्वय बात कर बकाया कर जमा करने हेतु अनुरोध करूॅगा उसके बाद भी यदि कोई जमा नहीं करता है तो कड़ी से कड़ी कार्यवाही करते हुए प्रत्येक दशा में नगर निगम के सभी करों की वसूली की जाएगी जिससे महानगर के विकास में धन के अभाव में किसी प्रकार की बाधा उत्पन्न न हो।

About गोरखपुर न्यूज़ लाइन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*