राज्य

विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के अध्यक्ष प्रत्याशी प्रो कमलेश ने जारी किया नौ सूत्री प्रतिज्ञा पत्र

गोरखपुर , 27 जुलाई. गोरखपुर विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के अध्यक्ष पद के प्रत्याशी प्रो कमलेश कुमार ने प्रतिज्ञा -पत्र जारी करते हुए शिक्षकों के रिक्त पदों पर नियुक्तियों के लिए प्रयास करने  और विश्वविद्यालय की कार्य-संस्कृति में अधिकतम पारदर्शिता हेतु संघर्ष करने की बता कही है.

प्रो कुमार ने प्रतिज्ञा पत्र जारी कर शिक्षक संघ चुनाव को एजेंडा का चुनाव बनाने की कोशिश की है और नयी परम्परा की शुरुआत की है.

प्रो कमलेश कुमार का प्रतिज्ञा पत्र में कहा है कि ‘ टीचर्स एसोसिएशन के चुनाव के लिए अब तक घोषित दोनों पैनलों में कुछ बहुत अच्छे और सुयोग्य लोगों की उपस्थिति से मैं अत्यंत प्रसन्नता का अनुभव कर रहा हूँ.अध्यक्ष पद के प्रत्याशी और एक आम शिक्षक के रूप में भी मै उनका हार्दिक स्वागत करता हूँ और इस सक्रिय भागीदारी के लिए बधाई देता हूँ. 4अगस्त को होनेवाले टीचर्स एसोसिएशन के चुनाव में मैं भी अध्यक्ष पद का प्रत्याशी हूँ.यदि आप मुझे अपने नेतृत्व का दायित्व देंगे तो मैं प्रतिज्ञा करता हूँ कि-

१.अध्ययन और अध्यापन मेरी पहली प्राथमिकता होगी.

२.बिना किसी भेदभाव के सभी शिक्षकों के हित में कार्य करूँगा.

३.जिन शिक्षकों की प्रोन्नतियाँ अभी शेष हैं, उनकी प्रोन्नति सहित सबके प्राप्तव्य समय से मिल सकें, इसका ध्यान रखूँगा.

४.बिजली, पानी, सफाई और मरम्मत जैसी प्राथमिक जरूरतों के लिए मुकम्मल व्यवस्था कराऊँगा.

५.शिक्षकों के रिक्त पदों पर शीघ्रातिशीघ्र नियुक्तियों के लिए हरसंभव प्रयत्न करूँगा और जब तक नियुक्तियाँ नहीं हो जातीं, तबतक सम्मानजनक मानदेय पर सेवानिवृत्त शिक्षकों द्वारा अध्यापन की व्यवस्था की कोशिश करूँगा.

६.मैं ऐसा कोई पद ग्रहण नहीं करूँगा, जिससे शिक्षक नेतृत्व की गरिमा पर आँच आती हो.

७.विश्वविद्यालय की कार्य-संस्कृति में अधिकतम पारदर्शिता हेतु प्रयास करूँगा.

८.तय समय के भीतर कार्यों/फाइलों के निस्तारण की ऐसी व्यवस्था कराऊँगा, जिससे आपको बार-बार प्रशासनिक भवन का चक्कर न लगाना पडे़.

९.टीचर्स’एसोसिएशन के संवैधानिक प्रावधान के अनुसार अगला चुनाव समय से सम्पन्न हो, यह सुनिश्चित करूँगा.

उपर्युक्त के अतिरिक्त शिक्षक हित और विश्वविद्यालय की बेहतरी की दिशा में जो भी जरूरी होगा, उसके लिए प्रयास और हरसंभव वातावरण बनाने की केशिश करूँगा.

Leave a Comment