समाचार

शराब की दुकान बंद कराने के लिए महिलाओं का प्रदर्शन, तालाबंदी

दुकान हटाने का आश्वासन दिए जाने के बाद शांत हुए लोग

पीपीगंज (गोरखपुर),16 अप्रैल। वार्ड नंबर आठ में देसी शराब की दुकान बंद कराने को लेकर महिलाओं,राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं और व्यापारियों ने जमकर हंगामा किया। नाराज लोगों ने दुकान में तालाबंदी कर प्रदर्शन किया। सूचना पर गोरखनाथ मंदिस से पंहुचे द्वारिका तिवारी और तहसीलदार ने दुकान बंद कराई जिसके बाद लोगो को गुस्सा शांत हुआ।
देशी शराब की दुकान के 100 मीटर के दायरे में अंधरा बाबा का मंदिर मस्जिद व अस्पताल है। इसी रास्ते देर रात तक सैकडो लोगों का आना-जाना लगा रहता है। शराबियों द्वारा महिलाओं पर छीटाकशीं को लेकर अक्सर विवाद भी होते रहते है। शाम होतो ही लोगो का रास्ता चलना मुश्किल हो जाता है। योगी आदित्य नाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद लोगो को दुकान हटाने की उम्मीद जगी। एक सप्ताह पूर्व सत्यापन पर निकली उपजिलाधिकारी पूजा मिश्रा ने सुप्रीम कोर्ट के मानकों की अवहेलना के चलते स्थानीय लोगों कों दुकान हटवाने का भरोसा भी दिया था लेकिन एक सप्ताह बाद दुकान नहीं हटा तो व्यापारियों और अन्य लोगों ने दुकान में ताला बंद कर दुकान के सामने रास्ता जामकर प्रदर्शन शुरू कर दिया इस दौरान प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। सूचना पर हिन्दू युवा वाहिनी और भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ हियुवा के मिडिया प्रभारी अमित सिंह मोनू डा दीपक सिंह, भाजपा जिला उपाध्यक्ष शेषमणि त्रिपाठी पहुंचे और द्वारिका तिवारी को जानकारी दी। उन्होनें अधिकारियों से दुकान को हटवाने के लिए बात की। कुछ देर बाद द्वारिका तिवारी और तहसीलदार विपिन सिंह पहुचे। तहसीलदार ने दुकान बंद किए जाने की घोषणा की जिसके बाद लोग शांत हुए। इस दौरान भाजपा के जगंदबा अग्रहरी, मनोज अग्रहरी, विजय, कमलेश ,राकेश समेत बड़ी संख्या में महिलाए एव व्यापारी मौजूद रहे।

Add Comment

Click here to post a comment