समाचार

शिक्षामित्रों का गोरखनाथ मंदिर गेट पर जोरदार प्रदर्शन, नीति बनाकर शिक्षक बनाने की मांग की

डायट से मंदिर जा रहे शिक्षा मित्रो को रोकने की कोशिश सफल नही हुई 

देवरिया और संतकबीरनगर में भी शिक्षा मित्रों का प्रदर्शन
गोरखपुर, 26 जुलाई.  सुप्रीम कोर्ट से मंगलवार को आये निर्णय से दुखी व आक्रोशित शिक्षा मित्रों ने आज गोरखपुर, देवरिया, संतकबीरनगर आदि जिलों में जोरदार प्रदर्शन किया और सरकार से नीति बनाकर प्रदेश में 1.72 लाख शिक्षामित्रों को पुन: शिक्षक बनाए जाने की माँग की. गोरखपुर में हजारो शिक्षक प्रदर्शन करते हुए गोरखपुर नाथ मंदिर गेट पर पहुँच गए और जोरदार प्रदर्शन किया. शिक्षा मित्रों की बढती भीड़ देख प्रशासन को मंदिर का मुख्य गेट बंद करना पड़ा.

शिक्षा मित्र

आज सुबह दस बजे से शिक्षा मित्र डायट परिसर में जुटना शुरू हो गया. दोपहर  12 बजे तक हज़ारों की संख्या शिक्षा मित्र एकजुट हो गए. शिक्षा मित्रों का नेतृत्व उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ के जिलाध्यक्ष अजय सिंह व आदर्श शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष गदाधर दूबे कर रहे थे.
दोपहर बाद सभी शिक्षामित्र दो सुत्रीय माँग को लेकर डायट परिसर से गोरखनाथ मंदिर की तरफ जाने लगे. यह खबर प्रशासन के लगी तो उसके हाथ-पाँव फ़ूलने लगे। बड़ी संख्या में पुलिस बल डायट पहिंच गया और शिक्षा मित्रों को गोरखनाथ मंदिर जाने से रोकने लगा.

शिक्षा मित्र 5

प्रशासन ने दोनों संघ के जिलाध्यक्षों सहित तीन चार सौ शिक्षामित्रों को रोक लिया। काफ़ी नोक झोक के बावजूद उन्हें नहीं जाने दिया गया. पुलिस की घेराबंदी के बावजूद एक हजार से अधिक शिक्षामित्र गोरखनाथ के मुख्य गेट तक पहुँच गए और नारेबाज़ी शुरू कर दी। शिक्षा मित्रो के प्रदर्शन को देखते हुए गोरखनाथ मंदिर के मुख्य गेट में ताला लगा दिया गया।

शिक्षा मित्र 2

इधर डायट में रुके दोनो नेताओं से लगातार प्रशासन से वहाँ न जाने और यहीं ज्ञापन देने के लिए दबाव बनाने लगा। यह सिलसिला साढ़े चार बजे तक चला. अंत में दोनो नेताओं को धरना स्थल पर ले जाया गया. वहाँ शाम पाँच बजे एडीएम सिटी को सिटी मजिस्ट्रेट व एसपी सिटी की मौजूदगी में ज्ञापन सौंपा  गया. प्रशासन ने शिक्षा मित्रों को सीएम व डिप्टी सीएम से मुलाक़ात कराने का भरोसा दिलाया।

इस दौरन शिक्षामित्रों को संबोधित करते हुए अजय सिंह व गदाधर दूबे ने कहा राज्य सरकार को सोचने का दो दिन का मौका दिया गया है. इन दो दिनों में शिक्षामित्रों के प्रति कोई सार्थक पहल नहीं होती है तो प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर लखनऊ में बड़े पैमाने पर धरना-प्रदर्शन किया जाएगा । 27 जुलाई को रानी लक्ष्मीबाई पार्क में जनपद के शिक्षामित्र एकत्रित होकर शुद्धि बुद्धि यज्ञ करेंगे । 28 जुलाई को बस्ती ,गोरखपुर मंडल के शिक्षामित्र गोरखपुर आ रहे मुख्यमंत्री से मुलाक़ात करेंगे ।
प्रदर्शन के दौरान पिपरौली ब्लाक की महिला शिक्षामित्र विन्द्रावती देवी बेहोश होकर गिर पड़ी जिसे हास्पिटल ले जाया गया ।
कार्यक्रम में मनोज यादव , हुकुमचंद चौहान , बेचन सिंह , लालधर निषाद  , सुशील कुमार सिंह , अफ़जाल समानी , अविनाश , अशोक चंद्र ,यशवंत यादव सुनील शर्मा , बृजेश मौर्या, सूर्यप्रताप , अखंड प्रताप, अतुल राय , विनोद यादव , राम प्रवेश, ईश्वर ,राकेश संदीप सिंह ,संतोष सिंह ,परशुराम ,लक्ष्मीनारायण वर्मा  ,विजेंद्र यादव सहित सैकड़ो की संख्या में शिक्षामित्र उपस्थित रहे ।

Add Comment

Click here to post a comment