राज्य

सर्जिकल स्ट्राइक जैसी घेराबंदी भारत -पाक युद्ध में भी नही हुई: प्रेम शुक्ल

गोरखपुर, 28 अक्टूबर। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेम शुक्ल ने कहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान की जैसी घेराबंदी हुई है वैसी 1965, 1971 और 1999 के युद्ध के दौरान भी नहीं हो सकी थी।

गोरखपुर में एक कार्यक्रम में आए प्रेम शुक्ल ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए सपा, बसपा पर जमकर हमला बोला। सपा में मचे घमासान पर उन्होंने कहा कि परिवार के झगड़े में उत्तर प्रदेश के विकास को वनवास हो गया है। इस वनवास को खत्म करने के लिए जनता को भाजपा की पूर्ण बहुमत से वापसी करानी होगी।

उन्होंने बसपा को टिकट बेचने वाली पार्टी बताते हुए कहा कि यह स्व.कांशीराम के सिद्धांतों से पूरी तरह भटक चुकी है। प्रेम शुक्ल ने तीन तलाक को गैर इस्लामिक बताते हुए कहा कि लैंगिक समानता भारतीय संविधान में शामिल है। तीन तलाक तो पाकिस्तान में भी नहीं है। कहा कि प्रधानमंत्री नेहरु ने भी मुस्लिम महिलाओं को इससे मुक्ति दिलाने के लिए समिति बनाई थी ,लेकिन उसकी रिपोर्ट को तहखाने में डाल दिया गया। मोदी सरकार ने तीन तलाक से मुक्ति दिलाने के प्रति प्रतिबद्धता जताई है।

उन्होंने विश्वास जताया कि 2017 में भाजपा की जबरदस्त वापसी होगी। प्रेम शुक्ल ने नवजोत सिंह सिद्धू से लेकर पाक कलाकारों के बहिष्कार तक पर बात की। उन्होंने सिद्धू को भटकाव का शिकार नेता बताया। पाक कलाकारों पर कहा कि उन्हें आतंकवाद की निंदा करनी चाहिए थी। नहीं की तो बहिष्कार और विरोध जनता का हक बनता है।

उन्होंने बिहार में नीतीश -भाजपा गठबंधन की सरकार की याद दिलाई और कहा कि भाजपा की वजह से जिस प्रदेश में मंगलराज था वहीं अब जंगलराज हो गया है। मध्य प्रदेश, राजस्थान सहित कई अन्य उदाहरण देते हुए प्रेम शुक्ल ने कहा कि जनता ने देखा है कि मोदी सरकार कैसे विकास करती है। गोरखपुर का खाद कारखाना और एम्स इसके जीवन्त उदाहरण हैं। सीमा पर चल रही गोलाबारी को पाकिस्तान की खिसियाहट का नतीजा बताते हुए उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की सख्ती की वजह से शरीफ सरकार ने जहां आतंकवादियों के 5100 खाते सीज कर दिए वहीं परवेज मुशर्रफ को भी मसूद अजहर को आतंकवादी कहने पर मजबूर होना पड़ा।⁠⁠⁠⁠

Add Comment

Click here to post a comment