Uncategorized

सुभाष बाबू प्रखर राष्ट्रवादी एवं राजनीतिक योद्धा थे: मदन गोविन्द राव

कुशीनगर , 23 जनवरी.  नेता जी सुभाष चन्द्र बोस के जन्मदिवस पर बीआरसी केंद्र रामकोला मे आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए पूर्व विधायक मदन गोविन्द राव ने कहा कि सुभाष बाबू प्रखर राष्ट्रवादी एवं राजनीतिक योद्धा थे.

उन्होंने कहा कि विचारधारा के टकराव के कारण ही सुभाष बाबू ने कांग्रेस मे रहते हुए फारवर्ड ब्लाक का गठन किया तथा कांग्रेस के कुछ नेताओ के दुराग्रह के कारण अन्ततः कांग्रेस को छोड़ दिया.  स्वर्गीय रासविहारी बोस से उन्होंने आजाद हिन्द फौज का नेतृत्व सम्हाला तथा अग्रेजी सत्ता पर सैनिक हमला करते हुए भारतीय महाद्वीप के अनेक हिस्सो को आजाद करा लिया. यदि अमेरिका ने जापान पर परमाणु बम गिराकर घुटने टेकने को मजबूर नही किया होता तो सम्भवतया सैनिक युद्ध से ही देश को आजादी मिल गयी होती. एक तरफ सुभाष जी ने सिंगापुर मे सैनिक मुख्यालय एवं रेडियो स्टेशन स्थापित कर देश की जनता को जगाने का काम किया, वही काम कांग्रेस के अन्दर मौजूद सोशलिस्ट नेता जेपी और लोहिया ने नेपाल मे सैनिक ताकत एवं रेडियो स्टेशन स्थापित कर किया था. उन्होंने कहा कि  सुभाष बाबू आधुनिक विचारो के होते हुए भी देश की विरासत एवं संस्कृति पर गर्व करते थे.  गांधी जी से असहमति के बाद भी उन्हे राष्ट्रपिता का सम्बोधन दिया.

 समारोह को पूर्व जिला पंचायत सदस्य ब्रह्मांशकर चौधरी, दिनेश कुमार मल्ल, रामअवध प्रधान, कमलेश पटेल, रविंद्र पाण्डेय, ओंकार सिंह, फतेहबहादूर दूबे, नागेश्वर पाण्डेय, संतोष जायसवाल, उमेश तिवारी, सुरेंद्र यादव, कृष्णा सोनी, दिनेश यादव, बृजेश जायसवाल,नर्सिंग पटेल, त्रिवेणी कुशवाहा, मोतीलाल खट्टीक, ब्रह्मदेव कुशवाहा, धुवनारायण शर्मा, रामकेवल वर्मा, अयोध्या मधेशिया ,जसवंत कुशवाहा आदि ने संबोधित किया.  अध्यक्षता कवि उमाशंकर राय तथा संचालन प्रेमचंद मद्धेशिया ने किया

Skip to toolbar