जनपद

हाई वोल्टेज बिजली का करंट आने से ट्यूशन पढ़ा रहे शिक्षक की मौत

 10 लाख के बिजली के उपकरण जले

सिसवा बाज़ार (महराजगंज), 10 जून। कोठीभार थाना क्षेत्र के ग्रामसभा जहदां में प्रातः हाई वोल्टेज विद्युत सप्लाई आने से ट्यूशन पढ़ा रहे शिक्षक की टेबुल पंखे के संपर्क आने के कारण करंट लगने से मौत हो गई. गांव में आधा दर्जन लोग घायल हो गए. गांव के 50 घरों में 10 लाख के विद्युत उपकरण भी जल गए।
शनिवार को जहदां गांव में सुबह 8:30 बजे के करीब हाई वोल्टेज विद्युत सप्लाई आ गई।उसी दौरान 45 वर्षीय शिक्षक वीरेंद्र चौधरी गांव के ही चंद्रशेखर चौबे के घर उनके बच्चों को टयूशन पढ़ा रहे थे।बोल्टेज बढ़ता देख पास रखे टेबुल पंखे को जैसे ही बन्द करने गये उन्हें करंट लगा, उन्हें तत्काल निचलौल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहाँ चिकित्सकों ने मृत्य घोषित कर दिया।

गांव के प्रेम सागर चौबे, मोहित यादव, अनीता यादव, नीलम यादव सहित आधा दर्जन लोग बिजली का करंट लगाने से घायल हुए हैं. ग्रमीणों द्वारा  सिसवा विद्युत् उप केंद्र पर मोबाईल के ज़रिये सुचना देने पर विद्युत सप्लाई बन्द किया गया।

ग्रामप् रधान नागेन्द्र चौबे का कहना है कि लगभग 50 घरों के 10 लाख रुपये कीमत की सभी विद्युत उपकरण जल गए. मदन पाण्डेय की एक एसी, फ्रिज, मोटर, इन्वर्टर, कूलर, 10 केबी का स्टेबलाईजर सहित घर सभी विद्युत् उपकरण जल गये है।ग्राम प्रधान के घर दो इन्वर्टर सहित घर का सारा विद्युत् उपकरण जल गया. ग्राम प्रधान ने बताया कि  लगभग एक महीने से गांव में हाई बोल्टेज की समस्या थी जिसकी शिकायत जेई से लेकर एक्सईएन तक सभी विद्युत अधिकारी से किया जा चूका था।परन्तु किसी के कान पे जूं नही रेंगा।और आज इतनी बड़ी हादसा हो गई।

इस संदर्भ में एक्सईएन महराजगंज संघप्रिय गौतम ने कहा कि घटना की जांच चल रही है। जाँच के उपरांत पता चलेगा कि हाई वोल्टेज कैसे हुआ। मृतक के परिजनों व घायलों के मुआवजा देने की प्रकिया शुरू की जा चुकी है.  जाँच रिपोर्ट आने के बाद कहना उचित होगा।कोठीभार पुलिस निचलौल प्राथमिक स्वास्थ्य स्वस्थ केंद्र पहुँच शव को अपने कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दी है।

मां-बाप के बुढ़ापे की लाठी था वीरेंद्र

जहदां गांव में हर तरफ मातम पसरा है।गांव का हर व्यक्ति उस मृदुल स्वभाव के शिक्षक को याद कर आँखे नम कर रहा है।एक बड़े परिवार की जिम्मेदारी प्राइवेट स्कूल में नौकरी,और टयूशन पढ़ा कर सँभालने वाला वीरेंद्र चौधरी विद्युत् हादसे का शिकार हो कर इस दुनिया से रुख्सत हो गया है।
जहदां निवासी वीरेंद्र चौधरी सिसवा स्थित सेंट जोसेफ्स स्कूल में शिक्षक थे।परिवार में माता पिता,3 भाई, पत्नी, 2 बच्चो की जिम्मेदारी उनके कंधों पर थी. स्कूल के वेतन से गुज़ारा होना मुश्किल था. इसलिए उन्हेंने ने खाली समय में टयूशन पढ़ने का निर्णय लिया और गांव के कुछ बच्चों को टयूशन पढ़ने लगे।शनिवार को भी प्रातः 8 बजे से गांव के ही चंद्रशेखर चौबे के घर उनके बच्चों को ट्युशन पढ़ाने गये थे और ये ह्रदयविदारक घटना घट गई।

घटना की सुचना मिलते ही परिजन दहाड़े मार रोने लगे. पत्नी बेहोश हो गई तो बूढ़े मां बाप छाती पीटने लगे.

Leave a Comment