जनपद

17 दिन बाद भी चन्द्रशेखर हत्या कांड का खुलासा नहीं

17 दिन बाद भी चन्द्रशेखर हत्या कांड का खुलासा नहीं
सिसवा बाजार (महराजगंज),10सितंबर। सिसवा बाज़ार की बहुचर्चित मर्डर मिस्ट्री चन्द्रशेखर हत्या कांड का 17 दिन भी खुलासा करने में असफल रही है। इस घटना पर पुलिस और प्रशासन की चुप्पी से लोग हैरान हैं।
24 अगस्त को सिसवा के जैनीछपरा निवासी महंथ मद्धेशिया का छोटा पुत्र चन्द्रशेखर उर्फ़ छोटे कसया में अपनी बहन की शादी की बात कर अपने मित्र गोपालनगर निवासी ईश्वर मद्धेशिया के साथ घर आ रहा था।रात में 11:30 बजे एक बाइक पर सवार तीन बदमाशों ने सिसवा कस्बे के प्रेमचित्र के सामने चन्द्रशेखर को गोली मार दी।इलाज के लिए गोरखपुर ले जाते समय रास्ते में चंद्रशेखर की मौत हो गई।

मौके पर पहुंची पुलिस ने घटना स्थल से कारतूस भरा हुआ कट्टा और एक पॉइंट टू टू का खोखा बरामद किया था। घटना के समय से ही इकलौते चश्मदीद गवाह मृतक के दोस्त ईश्वर को पुलिस कस्टडी में लेकर पूछ ताछ कर रही है जिसको लेकर जाँच अधिकारी हर उस जगह पर गये जिन स्थानों का जिक्र ईश्वर ने अपने बयान में किया था।उसके बावजूद पुलिस अभी तक इस मामले के तह में जाने में नाकाम है।इस बात पर जनता विश्वास नही कर रही है।और पुलिस के कार्य प्रणाली पर शक करते हुए लोग तरह तरह के सवाल खड़े कर रही है इस मामले में कई थाने के पुलिसकर्मी जो सिसवा में कभी तैनात रह चुके है और क्राइम ब्रांच को लगाया गया है। उसके बावजूद भी मामले में खुलासा न होना पुलिस की तफ्तीश पर संदेह पैदा कर रही है। चर्चा तो यहाँ तक है कि पुलिस किसी बेकसूर को फंसा कर गुनाहगारों को बचाने का षडयंत्र कर रही है। अगर सूत्रों की माने तो इस मामले में कोठीभार पुलिस को खुलासा ना करने के लिए आला अधिकारी भी दबाव बना रहे है जिसकी चर्चा आम हो चुकी है। इस संदर्भ में प्रभारी थानाध्यक्ष राजप्रताप सिंह ने कहा कि पुलिस अभी छान बीन कर रही है जल्द ही मामले का खुलासा हो जायेगा।