Templates by BIGtheme NET
Home » समाचार » 80 लोकसभा क्षेत्रों में 100-100 दिव्यांगों को मोटराइज ट्राईसाइकिल दी जायेगी-मुख्यमंत्री
सीएम योगी आदित्यनाथ

80 लोकसभा क्षेत्रों में 100-100 दिव्यांगों को मोटराइज ट्राईसाइकिल दी जायेगी-मुख्यमंत्री

गोरखपुर 4 फरवरी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज दीन दयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय में आयोजित सामाजिक अधिकारिता शिविर में घोषणा की कि प्रदेश के 80 लोकसभा क्षेत्रों में 100-100 दिव्यांगों को मोटराइज ट्राईसाइकिल दी जायेगी।

उन्होंने अधिकारीयों को निर्देश दिया कि दिव्यांगों का यूनीवर्सल परिचय पत्र तैयार करने के लिए समिति गठित करें तथा जिला अस्पताल में प्रत्येक सोमवार को कैम्प आयोजित करायें। इस अवसर पर उन्होंने एडिप योजना में 4115 तथा वायोश्री योजना में बुजु़र्गों को 7072 उपकरण वितरित किये.
मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत सरकार द्वारा पारित एक्ट के तहत प्रदेश सरकार नौकरियों में दिव्यांगों को 3 के स्थान पर 4 प्रतिशत आरक्षण दे रही है। प्रदेश सरकार दिव्यांगों को 300 रूपये के स्थान पर 500 रूपये की पेंशन दे रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में दिये जाने वाले मोटराइज ट्राइसाइकिल का अनुदान भी प्रदेश सरकार वहन करेगी।

samajik adhikarita shiwir
मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वी उ0प्र0 जापानी इंसेफलाइटिस से प्रभावित रहता है, इसमें तमाम बच्चे दिव्यांग हो जाते है। उन्होंने भारत सरकार के सामाजिक अधिकारिता मंत्री एंव प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद दिया कि ऐसे दिव्यांगों के लिए केन्द्रीय पुर्नवास केन्द्र गोरखपुर के लिए स्वीकृत किया है। बी.आर.डी. मेडिकल कालेज में इसके लिए भूमि भी उपलब्ध करा दिया गया है। इसके निर्माण के बाद यहां के दिव्यांगों को बेहतर सुविधा मिल सकेगी।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार गरीब कन्याओं की सामुहिक विवाह कराने का निर्णय लिया है. इसके लिए प्रत्येक शादी पर 35 हजार रूपये आर्थिक सहायता दी जायेगी।
केन्द्रीय सामाजिक न्याय एंव अधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत ने कहा कि अब सभी दिव्यांगों को यूनीवर्सल परिचय पत्र दिये जायेंगे जो पूरे देश में मान्य होगा। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित समिति इसका वितरण करायेगी। पहले केवल 07 श्रेणी के दिव्यांग होते थे अब इन्हें 21 श्रेणी में रखा गया है ताकि सभी को सहायता मिल सके।
उन्होंने कहा कि जर्मनी से सहयोग प्राप्त करके हाथ पैर से दिव्यांग व्यक्तियों के लिए इलेक्ट्रानिक हाथ पैर बनाया जा रहा है जिससे आदमी अपना प्रत्येक काम कर सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी डीएम अपने जिले में दिव्यांगों का सर्वे करायें ताकि शिविर आयोजित कर उन्हें उपकरण दिये जा सकें।
श्री गेहलोत ने कहा कि दिव्यांग वित्त विकास विभाग द्वारा रोजगार के लिए 4 प्रतिशत ब्याज पर लोन दिया जाता है। अब तक 1.50 लाख दिव्यांग जनों को रोजगार के लिए लोन दिया गया है। इस अवसर पर उन्होंने स्पर्श एंव दृष्टिबाधित राजकीय बालक कालेज के छात्रों को सरस्वती वंदना एंव स्वागत गीत प्रस्तुत करने पर 11 हजार रूपये का पुरस्कार दिया।
समारोह में गोरखपुर के महापौर सीता राम जायसवाल ने सभी का स्वागत किया। इस अवसर पर विधायक डा0 राधा मोहन दास अग्रवाल, विपिन सिंह, फतेह बहुादर, महेन्द्रपाल सिंह, संत प्रसाद, शीतल पाण्डेय, एम.एल.सी. देवेन्द्र प्रताप सिंह, प्रमुख सचिव सूचना अवनीश अवस्थी, मण्डलायुक्त अनिल कुमार, उ0प्र0 उच्चतर सेवा आयोग के अध्यक्ष प्रो0 ईश्वर शरण विश्वकर्मा, कुलपति प्रो0 बी0के0 सिंह, एल्मिको के प्रबंधक एंव पदाधिकारी उपस्थित रहे। जिलाधिकारी राजीव रौतेला ने धन्यवाद ज्ञापित किया। समारोह का संचालन प्रो0 अजय शुक्ला ने किया।

About गोरखपुर न्यूज़ लाइन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*