स्वास्थ्य

एएनएम संविदा संघ ने वाराणसी जाकर विधायकों को ज्ञापन दिया

पिंडरा के विधायक अवधेश सिंह को ज्ञापन देतीं एएनएम

गोरखपुर. एएनएम संविदा संघ द्वारा समान कार्य के लिए समान वेतन, रिक्त पदों पर समायोजित करने और नियमित एएनएम की भांति बीमा व अन्य सभी सुविधाएं देने की मांग को लेकर विधायकों, सांसदों, मंत्रियों को ज्ञापन देने का अभियान जारी है.

संघ की नेताओं ने 21 नवम्बर को वाराणसी का दौरा कर अपनी इन मांगों को लेकर सेवापुरी के अपना दल के विधायक नील रतन पटेल, कैंट वाराणसी के विधायक सौरभ श्रीवास्तव, उत्तरी वाराणसी नगर के विधायक रवीन्द्र जायसवाल, पिंडरा के विधायक अवधेश सिंह से मुलाकात की और उन्होंने ज्ञापन दिया.

उत्तर प्रदेश में एनएच एम के तहत आठ हजार से ज्यादा एनएनएम कार्यरत हैं जिन्हें 10 हजार मानदेय मिलता है. ये एएनएम समान कार्य के लिए समान वेतन और अपने को नियमित करने की मांग कर रही हैं. अब उन्होंने एएनएम संविदा संघ नाम से संगठन बना लिए है और इसके जरिये अपनी मांगों को पूरा करने के लिए दबाव बना रही हैं.

उत्तरी वाराणसी नगर के विधायक रवीन्द्र जायसवाल को ज्ञापन देतीं एएनएम

आन्दोलन के पहले चरण में संविदा एएनएम विधायकों, मंत्रियों और सांसदों को ज्ञापन दे रही हैं. अब तक 32 विधायकों, दो सांसदों, दो मंत्रियों को यह ज्ञापन दिया जा चुका है. अधिकतर विधायकों और  सांसदों ने मांगों के समर्थन में मुख्यमंत्री को पात्र भी लिखा है.

विधायकों, मंत्रियों, सांसदों को दिए गये ज्ञापन में  कहा गया है एएनएम टीकाकरण, जागरूकता, अभियान, स्वच्छता अभियान, परिवार नियोजन, सर्वे, संक्रामक रोग नियंत्रण, कुष्ठ रोग नियंत्रण, टीबी जागरूकता, पल्स पोलियो अभियान, मिशन इन्द्रधनुष, इंसेफेलाइटिस रोग नियंत्रण, दस्तक अभियान आदि में अपना योगदान दे रही हैं लेकिन उनसे जितना काम लिया जा रहा है उसके अनुसार वेतन व अन्य सुविधाएं नहीं दी जा रही हैं।

मांग पत्र में कहा गया है कि समान कार्य करने वाली संविदा एएनएम को बहुत कम मानदेया मिलता है। किसी को नौ हजार तो किसी को दस हजार या 12 हजार मानदेय दिया जा रहा है जबकि समान शैक्षणिक योग्यता व समान कार्य करने वाली नियमित एएनम का वेतन 25 हजार से 80 हजार तक है। समान पद, समान योग्यता व समान कार्य को देखते हुए संविदा एनएनएम को नियमित एएनएम के बराबर वेतन व अन्य सुविधाएं दी जाएं।

मांग पत्र में रिक्त पदों पर संविदा एएनएम को समायोजित करने की मांग करते हुए कहा गया है कि वर्ष 2013 में रिक्त पदों पर संविदा एएनएम की ही नियुक्ति की गई थी। यह नियुक्ति हाईकोर्ट द्वारा दिए गए आदेश के अनुसार की गई। उसी तरह संविदा एएनएम को नियमित महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता एएनएम बीएचडल्यू पर नियुक्ति की जाए। नियुक्ति में उम्र सीमा की छूट दी जाए और वरिष्ठता अनुसार बैच वाइज नियुक्ति की जाए.

ज्ञापन देने वाली संविदा एएनएम में प्रदेश संयोजक प्रेमलता पांडेय, जिला अध्यक्ष वाराणसी निर्मला सिंह, रेखा कुमारी, संगीता यादव, मीना पांडेय, डबली, किरन, मीरा कंचनलता, सुनीता, अनीता, रूपा, दीपिका , अर्चना, सुधा, विभा, सुमन, रेनू, मीरा , सीमा, माया, कुमकुम, बिंदू , दुर्गावती, बबिता, शीला, रेशमा, रानी, सविता, काजल, बीना, संयोगिता, सुशीला, ईशा, दीपमाला, रिंकू, माधुरी, नीलम, लक्ष्मी , पुष्पा, प्रतिभा, हेमलता,विनदरावती, पूजा, रीतू, मंजू, रीता, निधि, आशा, मधुबाला, अनुराधा, सरिता, उरमिला, शशि, गुडिया, प्रियंका, मधु, सलीमुननिशा, गीता, रंजना, जया, वंदना ,सोनम, अंजू, शालिनी , शवेता ,शालू, माधुरी, विनीता, सावित्री आदि के नाम उल्लेखनीय हैं.

Leave a Comment