जनपद

चेतना तिराहे पर कैंडिल जला स्वामी सानन्द को श्रद्धांजलि दी

  • 14
    Shares

गोरखपुर. गंगा नदी को बचाने हेतु गंगा एक्ट एवं अन्य उपायों को करने की मांग को लेकर अन्न त्यागकर 112 दिनों से उपवास कर रहे प्रख्यात पर्यावरणविद ,गंगापुत्र प्रो जी डी अग्रवाल (स्वामी सानन्द ) का सरकार के अहंकारी रवैये के कारण हुए निधन पर लोगो के बीच गहरा क्षोभ एवं सरकार के प्रति गुस्सा है।आज आमी बचाओ मंच के अध्यक्ष विश्व विजय के नेतृत्व में सामाजिक संगठनों,  छात्रों-नौजवानों ने चेतना तिराहा गोलघर पर केंडिल जलाकर कर स्वामी सानन्द जी को श्रद्धांजलि अर्पित किया।

इस अवसर पर आमी बचाओ मंच के अध्यक्ष विश्वविजय ने कहा कि गंगापुत्र होने का फर्जी दावा करने वाले लोग यदि सार्थक संवाद किये होते तो गंगा के असली पुत्र आज हम लोगो के बीच होते। नदिया चूंकि नफरत ,बटवारा एवं वोट पैदा नही करती इसलिये सरकारे इन्हें बचाने के वास्तविक उपाय करने के वजाय सिर्फ फर्जी शोर मचाने में लगी हैं । स्वामी जी का निधन सरकार एवं समाज के माथे पर गहरा धब्बा है। नदियो एवं प्राकृतिक जलश्रोतों को बचाने का संकल्प लेना और इसपर कार्य करना ही स्वामी जी के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

आज के कार्यक्रम में अनिल सोनकर,पुनीत तिवारी,भारतेंदु यादव, प्रणव द्विवेदी शुभम,सुमित पांडेय ,योगेश प्रताप सिंह, अनिल कुमार चन्द,योगेश पांडेय,सुभाष यादव, एम् एस कन्डोई,भोलू सिंह, समेत अनेक लोग उपस्थित रहे।

Add Comment

Click here to post a comment