समाचार

नहीं दिखा चांद, माह-ए-मुहर्रम का आगाज 12 से

  • 57
    Shares

गोरखपुर। ‘माह-ए-मुहर्रम’ का चांद सोमवार को नहीं दिखा। अब बुधवार 12 सितंबर से ‘माह-ए-मुहर्रम’ का आगाज होगा। मुहर्रम की दसवीं तारीख (यौमे आशूरा) शुक्रवार 21 सितंबर को पड़ेगी। इस्लामी कैलेंडर यानी हिजरी वर्ष का पहला महीना है ‘माह-ए-मुहर्रम’। बुधवार से 1440 हिजरी शुरू हो जायेगी।

मुहर्रम की पहली तारीख (24 हिजरी) को मुसलमानों के दूसरे खलीफा हजरत सैयदना उमर रजियल्लाहु अन्हु की शहादत हुई। इस माह को इस्लामी इतिहास की सबसे दुखद घटना के लिए भी याद किया जाता है। इसी महीने की दसवीं तारीख को यजीद नाम के एक जालिम ने पैगंबर-ए-इस्लाम के नवासे हजरत सैयदना इमाम हुसैन रजियल्लाहु अन्हु व उनके 72 साथियों को कर्बला के मैदान में शहीद कर दिया था। हिजरी सन् का आगाज इसी महीने से होता है। प्रमुख मस्जिदों व घरों में ‘जिक्रे शोहदा-ए-कर्बला’ की महफिल या मजलिस पहली मुहर्रम से शुरू होगी। जिसका सिलसिला दसवीं मुहर्रम तक जारी रहेगा।

मुहर्रम में शहर व देहात के विभिन्न मोहल्लों से करीब 1646 जुलूस निकलेंगे। शिया समुदाय द्वारा मातमी जुलूस निकाला जायेगा। मियां साहब इमामबाड़ा इस्टेट से 5, 9 व 10 मुहर्रम को ‘शाही जुलूस’ निकलेगा। यहां मेला भी लगेगा। तैयारियां तेज हैं। मुस्लिम मोहल्लों से चौथीं मुहर्रम से दसवीं मुहर्रम तक रात-दिन जुलूसों का सिलसिला जारी रहता है। शहर में ताजिया व रौशन चौकी (विभिन्न मस्जिदों का माडल) बनाने के काम में तेजी आ गई है।

–माह-ए-मुहर्रम पर होने वाले प्रमुख कार्यक्रम

1. नूरी मस्जिद तुर्कमानपुर में 01 मुहर्रम से लेकर 10 मुहर्रम तक बाद नमाज एशा (रात्रि) ‘जिक्रे शोहदा-ए-कर्बला’ की महफिल होगी। जिसमें मौलाना मो. असलम रज़वी की तकरीर होगी।

2. सब्जपोश हाउस मस्जिद जाफरा बाजार के निकट चौथीं मुहर्रम को रात्रि 9:00 से 11:30 बजे तक ‘यादे हुसैन जलसा’ होगा। जिसमें मुफ्ती अख्तर हुसैन (मुफ्ती-ए-गोरखपुर) व मुफ्ती मो. अजहर शम्सी संबोधित करेंगे। जिसकी अध्यक्षता कारी सरफुद्दीन व संचालन हाफिज महमूद रजा करेंगे। यह जानकारी हाफिज रहमत अली निजामी ने दी है।

3. हजरत शाह मुकीम शाह जामा मस्जिद बुलाकीपुर में 01 मुहर्रम से 10 मुहर्रम तक बाद नमाज एशा (रात्रि) ‘जिक्रे शोहदा-ए-कर्बला’की महफिल होगी। जिसमें मौलाना रियाजुद्दीन कादरी की तकरीर होगी।

4. चिश्तिया मस्जिद बक्शीपुर में 01 मुहर्रम से लेकर 05 मुहर्रम तक दोपहर 2:15 बजे से ‘जिक्रे शोहदा-ए-कर्बला’ की महफिल होगी। जिसमें हाफिज महमूद रज़ा कादरी संबोधित करेंगे।

5. बेलाल मस्जिद इमामबाड़ा अलहदादपुर में 01 मुहर्रम से लेकर 10 मुहर्रम तक बाद नमाज एशा (रात्रि) ‘जिक्रे शोहदा-ए-कर्बला’ की महफिल होगी। जिसमें कारी शराफत हुसैन कादरी रज़वी की तकरीर होगी।

6. मियां साहब इमामबाड़ा के मर्सिया खाना (जहां सोने-चांदी की ताजिया रखी जाती है) में 01 मुहर्रम से लेकर 09 मुहर्रम तक रात्रि 9:00 से 10:30 बजे तक ‘जिक्रे शोहदा-ए-कर्बला’ की मजलिस होगी। जिसमें शेख झांऊ मस्जिद खूनीपुर के इमाम मौलाना फैजुल्लाह कादरी संबोधित करेंगे।

7. मस्जिदे मदद अली (एक मीनारा) बेनीगंज में 01 मुहर्रम से लेकर 10 मुहर्रम तक बाद नमाज एशा (रात्रि) ‘जिक्रे शहीद-ए-कर्बला’ की महफिल होगी। जिसमें कारी मो. शाबान बरकाती की तकरीर होगी।

8. यादगारे हुसैन इमामबाड़ा छोटे काजीपुर में 01 मुहर्रम से लेकर 10 मुहर्रम तक हर सुबह 7:00 से 9:00 बजे तक कुरआन ख्वानी होगी। दस दिनों में हाफिज एक कुरआन शरीफ मुकम्मल करेंगे। यह जानकारी यादगारे हुसैन कमेटी के राजू व मो. दानिश ने दी है।

9. दारुल उलूम अहले सुन्नत मजहरुल उलूम घोषीपुरवा में 01 मुहर्रम से लेकर 05 मुहर्रम तक बाद नमाज एशा (रात्रि) ‘जिक्रे शोहदा-ए-कर्बला’ की महफिल होगी। जिसकी अध्यक्षता मौलाना अब्दुर्रब करेंगे। तकरीर कारी रईसुल कादरी, कारी तनवीर अहमद कादरी व मौलाना जाहिद मिस्बाही पेश करेंगे।

10. गाजी मस्जिद गाजी रौजा में 13 सितंबर से लेकर दसवीं मुहर्रम तक बाद नमाज एशा (रात्रि) ‘जिक्रे शोहदा-ए-कर्बला’ की मजलिस होगी। तकरीर मुफ्ती अख्तर हुसैन पेश करेंगे।

11. नूरी जामा मस्जिद अहमदनगर चक्शा हुसैन गोरखनाथ के पास चौथी व पांचवीं मुहर्रम को बाद नमाज एशा (रात्रि) जलसा ‘जिक्रे शोहदा-ए-कर्बला’ फैजान-ए-रज़ा नौज़वान कमेटी के तत्वावधान में आयोजित होगा। जिसमें मौलाना जहांगीर अहमद अजीजी, मौलाना आबिद अली निजामी, मौलाना दानिश रज़वी तकरीर करेंगे। अध्यक्षता हाफिज जमालुद्दीन व संचालन मौलाना सैफ करेंगे। नात मौलाना शादाब रज़वी व दारैन हैदर पेश करेंगे।

12. मस्जिद सुप्पन खां (कुरैशिया मस्जिद) खूनीपुर में 01मुहर्रम से लेकर 10 मुहर्रम तक बाद नमाज एशा (रात्रि) ‘जिक्रे शोहदा-ए-कर्बला’ की महफिल होगी। जिसमें मौलाना अबुल कलाम अजहरी व मौलाना सदरुल हक निजामी तकरीर पेश करेंगे। यह जानकारी अख्तर जमाल ने दी है।

13. मक्का मस्जिद मेवातीपुर इमामबाड़े के पास 01मुहर्रम से लेकर 10 मुहर्रम तक बाद नमाज मगरिब (शाम) से लेकर एशा तक ‘जिक्रे शोहदा-ए-कर्बला’ की महफिल होगी। जिसमें कारी मो. अय्यूब बरकाती की तकरीर होगी। यह जानकारी कारी अंसारुल हक कादरी ने दी है।

14. रज़ा मस्जिद चिलबिलवा भटहट बाजार में 01 मुहर्रम से लेकर 10 मुहर्रम तक बाद नमाज एशा (रात्रि) ‘जिक्रे शोहदा-ए-कर्बला कांफ्रेस’ आयोजित की जायेगी। जिसमें अल्लामा नूरुल्लाह कादरी, कारी फैजान रजा बरकाती, अल्लामा मुस्तफीज रजा, अल्लामा सईद अहमद चतुर्वेदी संबोधित करेंगे। यह जानकारी कारी नूरुलहोदा मिस्बाही ने दी है।

15. मस्जिद हरमैन रायगंज में 01 मुहर्रम से लेकर 10 मुहर्रम तक ‘जिक्रे शोहदा-ए-कर्बला’ की महफिल बाद नमाज एशा (रात्रि) होगी। जिसमें तकरीर नेमतुल्लाह चिश्ती पेश करेंगे।

16. मदरसा दारुल उलूम हुसैनिया दीवान बाजार में 13 सितंबर को प्रात: 11 बजे से लेकर दोपहर 1:00 बजे तक ‘जिक्रे शहीद-ए-आजम’ की महफिल होगी। तकरीर मुफ्ती अख्तर हुसैन व मौलाना रियाजुद्दीन कादरी पेश करेंगे। अध्यक्षता हाफिज नजरे आलम कादरी की होगी। कुरआन ख्वानी व फातिहा ख्वानी के बाद ‘लंगर-ए-शोहदा-ए-कर्बला’ बांटा जायेगा। यह जानकारी हाफिज महमूद रजा ने दी है।

17. बहादुरिया जामा मस्जिद रहमतनगर में 9 मुहर्रम को दोपहर 2:30 बजे ‘जिक्रे शहीद-ए-आजम’ महफिल होगी। जिसमें मौलाना अली अहमद की तकरीर होगी। कार्यक्रम के बाद एक कुंतल ब्रियानी बांटी जायेगी। यह जानकारी अली गजनफर शाह ने दी है।