समाचार

गोरखपुर में एनडीआरएफ ने किया भूकम्प में बचाव का मेगा माक एक्सरसाइज

होटल क्लार्क इन में भूकम्प से बचाव के मेगा माक एक्सरसाइज के आयोजन का दृश्य, इसका आयोजन एनडीआरएफ ने किया

गोरखपुर. प्राकृतिक आपदाओं के दौरान राहत और बचाव कार्यों की तैयारी को जांचने के लिए 10 अप्रैल को शहर के होटल क्लार्क इन परिसर में भूकम्प के बाद बचाव व राहत कार्य का मेगा माक एक्सरसाइज किया गया. एनडीआरएफ , राज्य आपदा प्राधिकरण, जिला प्रशासन के तत्वावधान में आयोजित इस कार्यक्रम में सिविल डिफेंस, पुलिस, अग्निशमन, एनसीसी, एसएसबी, भारत स्काउट एंड गाइड, पीएसी समेत कई विभागों ने भाग लिया.

होटल क्लार्क इन बना मेगा माक एक्सरसाइज का घटना स्थल

पुलिस, अग्निशमन समेत आपदा प्रबंधन से जुड़े कई सरकारी विभाग शामिल हुये

मल्टी हेजार्ड आपदा प्रबंधन पर आधारित  इस मेगा माक एक्सरसाइज की शुरूआत भूकम्प आने के एक अलार्म के साथ शुरू हुई. भूकम्प के झटकों से दहशत का माहौल बना। लोग घरों के बाहर बदहवास दौड़ने भागने लगे. भूकम्प से होटल क्लार्क इन का भवन क्षतिग्रस्त हो गया. इस भवन के तीनों तल में कई लोग फंसे हुये थे जिनमें कुछ होटल में ठहरे यात्री थे और बाकी होटल के कर्मी थे. इसकी सूचना होटल से डीएम को दी गयी. डीएम कार्यालय से यह सूचना 11 वी वाहिनी एनडीआरएफ नियंत्रण कक्ष को दी गयी. इस सूचना के बाद आरआरसी गोरखपुर की टीम त्वरित कार्यवाही के लिये घटनास्थल की ओर रवाना हो गयी.

होटल की ऊपरी मंजिल में फंसे लोगों को बचाने जाते जवान

घटनास्थल पर पहुंचते ही टीम के सदस्यों ने वहां के लोगो से प्राप्त इनपुट के बाद बेस आफ आपरेशन तैयार कर बचाव व राहत कार्य शुरू कर दिया. पता चला कि कुछ लोग होटल के क्षतिग्रस्त हिस्से के मलबे में दबे पड़े हैं. दबे लोगों को सीएसएसआर टीम ने अत्याधुनिक उपकरणों की सहायता से मलबे की कटिंग कर बाहर निकाल लिया. सेफ्टी आफिसर द्वारा किसी रसायन की गंध का आभास होने के बाद राहतकार्य रोका गया. तत्पश्चात सीबाआरएन टीम ने इस गंघ का पता लगाकर उसका निराकरण किया और पीड़ितों को बाहर निकाला.

इसी दौरान भवन की ऊपरी मंजिलों में कुछ लोगों के फंसे होने की सूचना मिली. यहां पहुंचना मुश्किल था. पर एनडीआरएफ की रोप रेस्क्यू टीम ने अपनी बहादुरी का परिचय देते हुये रस्सियों के माध्यम से पीड़ितों को बाहर निकाला. इस दौरान ग्रीन कारीडोर का भी अभ्यास किया गया. गंभीर रूप से चोटिल पीड़ितों को उचित चिकित्सा के उच्च चिकित्सालय में भेजा गया. इस दौरान दर्शकों ने टीम के प्रदर्शन का तालियों से स्वागत किया.

इस आयोजन का नेतृत्व रवीन्द्र प्रताप साही ले ज रिटायर्ड उपाध्यक्ष राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण उप्र ने किया. कार्यक्रम में आलोक कुमार सिंह उप महानिरीक्षक एनडीआरएफ, विधान जायसवाल अपर जिलाधिकारी गोरखपुर, डा उर्वशी चंद्रा डीआरआर यूनीसेफ,  उप कमांडेंड एनडीआरएफ, आरपी भारती व पीएल शर्मा, बलबीर सिंह परियोजना निदेशक उप्र राज्य आपदा प्राधिकरण, निखिल कुमार एक्सपर्ट निर्माण उप्र राज्य आपदा प्रबंध प्राधिकरण, एस के तिवारी सीएमओ गोरखपुर, विपुल कुमार श्रीवास्तव पुलिस अधीक्षक, ब्रिगे जे एस राजपुरोहित, एनसीसी, शोयेब इकबाल पुलिस अधीक्षक राज्य आपदा मोचन बल, देवेन्द्र कुमार सिंह मुख्य अग्निशमन अधिकारी, संजीव दीक्षित तहसीलदार, विरेन्द्र सिंह सहायक कमांडेंट एसएसबी व डिप्टी कंट्रोलर सिविल डिफेंस, पीएसी समेत तमाम लोग उपस्थित थे.

Leave a Comment