साहित्य - संस्कृति

साहित्य को आमजन तक पहुंचाती हैं लघु पत्रिकाएं : जोशी

देवरिया । साहित्यिक पत्रकारिता में पतहर जैसी पत्रिकाओं का विशेष महत्व है । स्थानीय स्तर पर इस तरह का प्रयास सराहनीय है। लघु पत्रिकाएं साहित्य को आमजन तक सहजता से पहुंचाने का काम करती हैं ।

यह विचार नागरी प्रचारिणी सभा के अध्यक्ष व संपादक परमेश्वर जोशी ने व्यक्त किया। वे 10 फरवरी को निराला जयंती पर आयोजित नागरी प्रचारिणी सभा के महात्मा गांधी सभागार में पतहर पत्रिका के नवीनतम अंक का लोकार्पण कर रहे थे.

मुख्य अतिथि प्रोफेसर नंदकिशोर सिंह ने कहा कि निराला जयंती के अवसर पर साहित्यिक पत्रिका का विमोचन सुखद भविष्य का आभास कराता है। उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर पर युवाओं का यह प्रयास साहित्य और पत्रकारिता को बहुत आगे ले जाएगा। उन्होंने निराला को एक क्रांतिधर्मी चेतना का कवि बताया।

नागरी प्रचारिणी के मंत्री इंद्र कुमार दीक्षित ने पत्रिका के नियमित प्रकाशन के लिए संपादक विभूति नारायण ओझा को अंग वस्त्र व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया । उन्होंने कहा कि पत्रिका का वर्तमान अंक पाठकों को आकर्षित करने वाला होगा। डॉक्टर दिवाकर प्रसाद तिवारी ने पतहर में विभिन्न विधाओं को उजागर करने की सलाह दी । लोकार्पण कार्यक्रम का आभार ज्ञापन पत्रकार चक्रपाणि ओझा ने किया तथा संचालन इंद्र कुमार दीक्षित ने किया।

इस अवसर पर डॉक्टर प्रिया मिश्रा, उद्भव मिश्रा, सौदागर सिंह, कैप्टन वीरेंद्र सिंह ,कवि धर्मदेव सिंह आतुर, नित्यानंद यादव ,डॉ भावना सिन्हा, योगेंद्र तिवारी जोगी, बृजेंद्र मिश्र आदि की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

Leave a Comment