पर्यावरण

सोहगीबरवा वन्यजीव प्रभाग को टाइगर रिजर्व फारेस्ट बनाने के लिए 2.26 करोड़ का प्रस्ताव, पत्रावली केंद्र सरकार को भेजी गई

महराजगंज.  सोहगीबरवा वन्य जीव प्रभाग को टाइगर रिजर्व फारेस्ट घोषित कराने संबंधी पत्रावली विशेष पत्रवाहक के माध्यम से भारत सरकार को भेज दी गई है.

सोहगीबरवा वन्यजीव प्रभाग के प्रभागीय वनाधिकारी मनीष सिंह ने बताया कि इस प्रभाग को टाइगर रिजर्व फारेस्ट घोषित करने लिए बीते जनवरी माह में दो करोड़ 26 लाख का प्रस्ताव बना कर विभाग के माध्यम से उत्तर प्रदेश शासन को भेजा गया था.

प्रदेश सरकार ने अपने स्तर से अनुमोदित कर उक्त पत्रावली को अनुमोदन के लिए भारत सरकार को भेज दिया है. डीएफओ ने बताया कि अब उक्त पत्रावली को विशेष पत्रवाहक के माध्यम से प्रोजेक्ट टाइगर सेल पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय भारत सरकार को भेजा गया है. मार्च माह का अंतिम सप्ताह होने की वजह से ऐसा प्रयास किया जा रहा है कि मंगलवार की शाम तक पत्रावली दिल्ली पहुंच जाए. उन्होंने कहा कि अगर भारत सरकार से कुछ धन मिल जाता है कि बाघों के संरक्षण न संवर्धन की दिशा में बेहतर कार्य हो सकेगा.

डीएफओ ने बताया कि सोहगीबरवा वन्यजीव प्रभाग का नेपाल के चितवन नेशनल पार्क, बिहार के व्याघ्र परियोजना से परस्पर नाता है. सोहगीबरवा में बाघों का विचरण होता रहता है. सोहगीबरवा में चार बाघ की उपस्थिति बताई जाती है.

Leave a Comment