Templates by BIGtheme NET
Home » समाचार » गेट मित्र ने स्कूली वैन को रोकने की कोशिश की थी
dudhi accident 2

गेट मित्र ने स्कूली वैन को रोकने की कोशिश की थी

कुशीनगर। दुदही रेलवे स्टेशन के पास बहपुरवा रेलवे क्रासिंग पर ट्रेन के आने के वक्त स्कूली बस को क्रांसिग पार करते देख वहां तैनात गेट मि़त्र ने ड्राईवर को चेताया था और रूक जाने के लिए कहा लेकिन डाइवर वैन को रोक नहीं पाया और यह दिल दहना देने वाली घटना घट गई.

मानव रहित समपार फाटकों पर बढ़ते हादसों को देखते हुए पूर्वोत्तर रेलवे ने वहां पर गेट मित्र तैनात किए हैं. ये गेट मित्र ठेके पर तैनात हैं. इनकी 12-12 घंटे की शिफ्टवार ड्यटी होती है और अधिकतर ये स्थानीय लोग होते हैं. इनका काम मानव रहित क्रासिंग पर  ट्रेनों की आवाजाही के समय लोगों और वाहनों को क्रांसिंग पार करने से रोकना है.

मानव रहित क्रासिंग पर गेट मित्रों की तैनाती दो वर्ष पूर्व हुई थी। इससे मानव रहित समपार फाटकों पर दुर्घटनाओं में कमी भी आई थी।

पूर्वोत्तर रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि पूर्वोत्तर रेलवे में 600 से अधिक मानव रहित समपार फाटक हैं जहां पर गेट मित्रों की तैनाती की गई है।

आज जिस स्थान पर यह हादसा हुआ, वहां पर गेट मित्र तैनात था। उसने ट्रेन के आते वक्त जब स्कूली वैन को क्रासिंग की तरफ आता देखा तो उसे रोकने की कोशिश की. बताया जाता है कि ड्राईवर ट्रेन को  देख हड़बड़ा गया और उसने वैन की स्पीड बढ़ानी चाही तभी वैन बंद हो गई और ट्रेन ने ने उसे टक्कर मार दी।

About गोरखपुर न्यूज़ लाइन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*