Monday, February 6, 2023
Homeसमाचारएम्स के लिए प्रस्तावित भूमि पर जुताई कराने पर बवाल, दो...

एम्स के लिए प्रस्तावित भूमि पर जुताई कराने पर बवाल, दो हिरासत में

कीर्ति रमन दास प्रस्तावित भूमि को बता रहे हैं अपना जबकि वन विभाग का दावा कि भूमि उसकी 

हाईकोर्ट में लंबित है मुकदमा

गोरखपुर , 16 जून। एम्स के लिए गुलरिहा थाना क्षेत्र में खुटहन के पास प्रस्तावित भूमि पर एक व्यक्ति द्वारा गुरुवार को जुताई कराने पर बवाल मच गया। सपा की
क्षेत्रीय विधायक राजमती निषाद, बेटे अमरेंद्र और सौ से अधिक ग्रामीणों के साथ मौके पर पहुंच कर काम रुकवा दिया। इस दौरान ग्रामीणों ने भूमि के एक हिस्से में स्थित बाग में घुसकर आम, केला और कटहल का फल लूट लिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने ट्रैक्टर का कब्जे में ले लिया और चालक सहित दो लोगों को हिरासत में ले लिया है। हिरासत में लिए गए लोगों के खिलाफ वन विभाग की तरफ से तहरीर दी गई है। थानेदार सुनील सिंह ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।
प्रदेश सरकार ने एम्स के लिए खुटहन गांव के पास दो सौ एकड़ भूमि चिह्नित की है। सरकार का दावा है कि भूमि वन विभाग की है। केंद्र से प्रस्ताव मंजूर होने पर
भूमि एम्स के लिए हस्तांरित कर दी जाएगी। उधर कोतवाली थाना क्षेत्र के अलीनगर निवासी कीर्तिरमन दास उस भूमि को अपना बताते हैं। इसको लेकर हाईकोर्ट में मुकदमा भी लंबित है। कीर्ति रमन दास का काम देखने वाले खैराटी, बांसगांव निवासी सत्यनारायण यादव गुरुवार की सुबह ट्रैक्टर से भूमि की जुताई करा रहे थे, जिसे विधायक ने रूकवा दिया।
घटना की जानकारी होने पर पहुंची पुलिस, सत्यनारायण यादव और खुटहन निवासी टै्रक्टर चालक छोटेलाल को हिरासत में लेकर थाने चली गई। बाद में विधायक और उनके पुत्र भी ग्रामीणों के साथ थाने पहुंचे। विधायक पुत्र ने वन विभाग के अधिकारियों से जुताई कराने वालों के खिलाफ तहरीर देने को कहा। देर शाम बनगाई बीट के वनरक्षक ओम प्रकाश राय ने सत्यनारायण और अच्छेलाल के खिलाफ तहरीर दी।
उधर कीर्तिरमन दास की जायदाद की देखभाल करने वाले सत्यनारायण यादव का दावा है कि जो भूमि वन विभाग की बतायी जा रही है, वह हमारी है, उस पर
पहले से हमारा कब्जा है। बाद में वन विभाग ने दावा करना शुरू कर दिया। इसके विरुद्ध उच्च न्यायालय में मुकदमा लंबित है। कोर्ट ने मौके पर यथास्थिति का आदेश दे रखा है। सत्यनारायण का कहना है कि चूकी पहले से वह भूमि की जुताई व बुआई कराते रहे हैं इसलिए गुरुवार को भी जुताई कराने गए थे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments