Thursday, February 22, 2024
Homeसमाचार' मैं सऊदी अरब में फंस गया हूँ, मुझे ...

‘ मैं सऊदी अरब में फंस गया हूँ, मुझे वतन बुला लो ‘

– 40 माह से सउदी अरब में है राकेश

– छह माह से नही मिल रही सेलरी, खाने-पीने के लाले पड़े 

रवि सिंह 

महराजगंज, 13 जनवरी। ‘ मैं सऊदी अरब से बोल रहा हूँ। मुझे यहाँ आए 40 महिना हो गया है। मुझे 6 महीने से वेतन नहीं मिल रहा।  मैं यहाँ बुरी तरह फंस गया हूँ। मेरे घर वाले बहुत परेशान हैं। इंडिया के भाई बंधुओं से निवेदन है कि मुझे किसी तरह यहाँ से निकालिए।  मुझे मेरे वतन बुला लो। ‘

यह मार्मिक अपील है सऊदी अरब कमाने गए राकेश चौधरी की। ठूठीबारी कोतवाली क्षेत्र के ग्राम रामनगर निवासी राकेश ने यह गुहार सोशल मीडिया पर विडियो अपलोड कर सरकार से लगाई है।

रामनगर निवासी जग्गन का लड़का राकेश चौधरी अपने परिवार की परवरिश करने के लिए 40 महीने सउदी अरब कमाने गया था। उसे क्या पता कि जिस सपने को संजो वह सउदी जा रहा है, वह वहाँ पहुँचने के बाद चूर-चूर हो जाएगा। वह उसे जबर्दस्त धोखा मिला। एजेन्ट के जरिये राकेश फिटर की नौकरी करने सऊदी अरब गया लेकिन वहाँ उसे दुकान मेन मजदूर का कम लिया जाने लगा। किसी तरह उसने 30 महीने तक गुजारा किया लेकिन जब शोषण असहनीय शुरू हो गया। आजि़ज आ उसने नियोक्ता से कहा कि वह घर जाना चाहता है। जैसे ही उसके नियोक्ता ने यह बात सुनी उस पर अत्याचार शुरू कर दिया और भोजन -पानी तक बंद कर दिया। छह माह से उसकी सेलरी रोक दी गयी है। अब वह दर दर भटक किसी तरह अपने पेट की आग बुझा रहा है।

https://youtu.be/qXsMZabEh7U

राकेश ने सऊदी अरब स्थित भारतीय दूतावास सी संपर्क किया तो उसे नियोक्ता पर मुकदमा करने को कहा गया लेकिन दो जून की रोटी के लिए जूझ रही राकेश के संभव नहीं है कि वह अपने नियोक्ता से कानूनी लड़ाई लड़ सके।

 दो दिन पूर्व उसने अपनी बीवी सुनीता से अपनी पीड़ा बयां की। इसके बाद से आज तक परिवार का कोई सदस्य चैन से सो नहीं पा रहा है। उन्हें समझ में नहीं आ रहा कि क्या करें और किस्से मिलें जिससे राकेश घर वापस लौट सके। ⁠⁠⁠⁠

राकेश ने अपनी व्यथा वीडियो में दर्ज कर क्षेत्रीय सामाजिक कार्यकर्ता योगेश प्रताप सिंह पिंकू को मैसेन्जर के जरिये भी भेजा। श्री सिंह ने मीडिया को राकेश की समस्या के बारे में जानकारी दी और अपने स्तर से उसकी मदद में जुटे हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments