Wednesday, February 21, 2024
Homeसमाचारमिर्जापुर-सोनभद्र में आदिवासियों, गरीबों को वोट डालने से डरा रहा है वन...

मिर्जापुर-सोनभद्र में आदिवासियों, गरीबों को वोट डालने से डरा रहा है वन विभाग-भाकपा माले

लखनऊ, 5 मार्च। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) ने मिर्जापुर-सोनभद्र अंचल
में आदिवासियों-गरीबों के मताधिकार की रक्षा करने की मांग चुनाव आयोग से की है।
पार्टी के राज्य सचिव रामजी राय ने कहा कि वनाधिकार कानून के अस्तित्व में होने के बावजूद इस अंचल में वन भूमि पर लंबे समय से रह रहे आदिवासी परिवारों का चुनाव के मौके पर वन विभाग और दबंग ताकतों ने उत्पीड़न तेज कर दिया है, ताकि वे आतंकित होकर पलायन कर जायें और वोट न डाल सकें। इसके लिए उन आदिवासी मतदाताओं को खासतौर पर निशाना बनाया जा रहा है, जो वामपंथी दल के समर्थक हैं। इस अंचल में मतदान आठ मार्च को होना है।
पार्टी ने प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को पत्र लिख कर कहा है कि उदाहरण
के रुप में, मिर्जापुर के छानबे (सु.) विधानसभा क्षेत्र के हलिया में आदिवासी-गरीब मतदाता वन विभाग द्वारा अपने निवास से पलायन करने को मजबूर किए
जा रहे हैं। वे भयमुक्त होकर मतदान न कर सकें, इसके लिए वन विभाग उन्हें आतंकित कर रहा है। पत्र में पार्टी ने कहा है कि 17 जनवरी को हलिया इलाके के वन रेंजर ने मतवार ग्राम के आदिवासी गरीबों को वन विभाग की योजनाएं बताने के बहाने मीटिंग में बुलाया। जब महिला-पुरूष निवासी रेंज आफिस पहुंचे तो महिलाओं को भद्दी गालियां दी गईं और उन्हें लाल झंङा (कम्युनिस्ट पार्टी का) न छोड़ने पर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी गई। 11 लोगों – लालजी कोल, गिरजा, मुन्नीलाल, हीरामणि, मुन्नीसागर, रामजनक, मोहन, रामवृच्छ, लालता, मिश्रा (नाम) आदि को बुरी तरह से मारा पीटा गया। उनके नाजुक अंगों को सिगरेट व मोमबत्ती से दागा गया। वन्य जीव अधिनियम की धाराएं फर्जी रुप से लगाकर जेल भेजा गया। हाल में पोखरा गांव के रामचन्द्र गोंड को घर से उठाकर मारा-पीटा गया। इन घटनाओं की शिकायत पार्टी ने जिलाधिकारी मिर्जापुर के यहां दर्ज कराई, लेकिन कोई राहत नहीं मिली और उत्पीड़न जारी है। इसी तरह इस विधानसभा क्षेत्र के कई गांवों – सिलहटा, बङौंही, बलिहा, नदना, बेलाहीं, डुडिया, छमहवां आदि में गरीबों को आतंकित किया जा रहा है, जिससे गरीब परिवार पलायित हो रहे हैं। पार्टी ने आयोग से मतदान में आदिवासियों, गरीबों की भागीदारी सुनिश्चत कराने और भयमुक्त वातावरण में शांतिपूर्ण मतदान के लिए हर तरह के आतंक व दमन पर रोक लगाने का अनुरोध किया है।
इस बीच, अंतिम चरण के चुनाव प्रचार के क्रम में भाकपा (माले) के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य की सभा रविवार को मिर्जापुर में मड़िहान विधानसभा क्षेत्र के कलवारी में होगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments