Thursday, February 22, 2024
Homeसमाचारपीएम ने की किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत, 10 हजार करोड़...

पीएम ने की किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत, 10 हजार करोड़ की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास

गोरखपुर. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 24 फरवरी को एफसीआई. कैम्पस में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का शुभारम्भ किया और गोरखपुर की लगभग 10 हजार करोड़ की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास किया.

इस मौके पर प्रधानमंत्री ने वीडीओ कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से कर्नाटक के बेंगलोर व पुत्तुर, उड़ीसा के भुवनेश्वर तथा पश्चिम बंगाल के नरेन्द्र कुश के किसानों से वार्ता की तथा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के संबंध में चर्चा की। प्रधानमंत्री ने 3 योजनाओं पशुपाल, मत्स्यपालन व बकरी पालन में कार्य करने वाले विभिन्न प्रान्तों के 10 लाभार्थियों को किसान क्रडिट कार्ड योजनान्तर्गत किसान प्रगति कार्ड प्रदान किया।

प्रधानमंत्री ने जिन परियोजनाओं का लोकार्पण किया गया उसमें बी.आर.डी. मेडिकल कालेज के सुपर स्पासियलिटी हास्पिटल का उच्चीकरण कार्य, गोरखपुर कैण्ट-कप्तानगंज-बालमिकी नगर खण्ड विद्युतीकरण, एस.सी. इलेक्ट्रिक लोको शेड का निर्माण, दुग्ध संघ गोरखपुर परिसर में एक लाख लीटर प्रतिदिन क्षमता की पूर्ण स्वचालित डेयरी, रोहिन नदी पर डोमिनगढ़ गाहासाड मार्ग के डोमिनगढ़ घाट पर सेतु एंव सेतु के पहुंच मार्ग, अतिरिक्त पहुंच मार्ग एंव सुरक्षात्मक निर्माण कार्य, एम्स के आयुष भवन में ओ.पी.डी. का संचालन, एम्स परिसर में 33/11 के0वी0 विद्युत उप केन्द्र क्षमता 2ग10 एम.बी.ए. का निर्माण, बी.आर.डी. मेडिकल कालेज में 100 क्षमता वाले पी.जी. गर्ल्स छात्रावास का निर्माण, रामगढ़ताल परियोजना के अन्तर्गत सर्किट हाउस के निकट पार्क का निर्माण एंव सौन्दर्यीकरण का कार्य तथा बी.आर.डी. मेडिकल कालेज में 50 क्षमता वाले पी.जी. मैरिड छात्रावास का निर्माण शामिल है।

इसके अतिरिक्त उन्होंने कांडला से गोरखपुर एल.पी.जी. पाइपलाइन का निर्माण, सोनौली गोरखपुर मार्ग के किमी0 81.420 (जंगल कौड़िया) से किमी0 98.945 (मोहद्दीपुर चैराहा) तक फोरलेन सी.सी. रोड का निर्माण कार्य तथा राप्तीनगर विस्तार आवासीय योजना में 4 मंजिला सेमी फिनिस्ड अफोर्डेबल (जी़3) 480 एल.आई.जी. भवनों का निर्माण कार्य परियोजनाओं का शिलान्यास किया।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का शुभारम्भ करते हुए पीएम ने कहा कि दो हेक्टेयर भूमि की जोत वाले किसान परिवारों को रू0 6 हजार वार्षिक राशि का भुगतान किया जायेगा और ऐसे किसान परिवारों को 2000 रू0 की तीन समान किस्त सीधे उनके बैंक खाते में भेजी जायेगी। उन्होंने बताया कि एक करोड़, एक लाख किसानों के खाते में इस योजना की प्रथम किस्त भेज दी गयी है। देश के 21 राज्यों, केन्द्र शासित प्रदेशों के किसान इस योजना से लाभान्वित होंगे। अगले कुछ सप्ताह में 12 करोड़ किसानों के खाते में भी यह राशि पहुंचेगी। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत हर वर्ष 75 हजार करोड़ रू0 किसानों के खाते में सीधे पहुंचेगे जिससे उन्हें अपनी उपज के लिए खाद, बीज, दवा तथा विद्युत बिल की अदायगी में सहायता मिलेगी। उन्होंनें बताया कि इस योजना के तहत दी जाने वाली धनराशि केन्द्र सरकार द्वारा दी जायेगी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकारें पूरी पारदर्शिता के साथ किसानों की सूची उपलब्ध करायें। उन्होंने कहा कि इस योजना में किसी भी बिचैलिये/दलाल की भूमिका नही होगी. यह धनराशि किसानों के बैंक खाते में सीधे भेजी जायेगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि किसान का हित एंव उनका उन्नयन सरकार की प्राथमिकता है।

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि किसानों के हित में आज सबसे बड़ी योजना प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का शुभारम्भ किया गया है। उन्होंने बताया कि गोरखपुर के फर्टिलाइजर का कार्य तेजी से किया जा रहा है तथा लगभग 60 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है और 2020 तक खाद कारखाना चालू हो जायेगा। इसके अतिरिक्त गोरखपुर एंव बस्ती जनपद में आधुनिक तकनीकी युक्त एक-एक चीनी मिल का निर्माण प्रारम्भ है जिसमें अगले माह से पेराई प्रारम्भ हो जायेगा और 50 हजार कुन्तल प्रतिदिन गन्ने की पेराई होगी। इसके साथ ही सुगरकेन से एथेनाल भी बनाया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2016 में एम्स की आधारशिला रखी गयी थी जिसकी ओ.पी.डी. का लोकार्पण प्रधानमंत्री द्वारा कर दिया गया है।

केन्द्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि गांव, गरीब एंव किसान सरकार की प्राथमिकता है। किसी व्यक्ति के सुनहरे निर्माण हेतु भूतकाल की तरफ झांकना पड़ता है तभी सुनहरे निर्माण की परिकल्पना पूरी होगी। किसान हित की अनेक योजनाएं सरकार द्वारा संचालित की गयी है। राज्य के खजाने पर पहला अधिकार गांव गरीब एंव किसान का ही है।

इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्रनाथ पाण्डेय, केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ल, प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, पूर्व मंत्री कलराज मिश्र, सांसद, विधायक,  मण्डलायुक्त अमित गुप्ता, जिलाधिकारी के0 विजयेन्द्र पाण्डियन, निदेशक सूचना एंव जनसम्पर्क विभाग शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments