Wednesday, February 21, 2024
Homeसमाचारएक वर्ष में भी पूरा नहीं हो सका कुशीनगर में इंसेफलाइटिस आईसीयू...

एक वर्ष में भी पूरा नहीं हो सका कुशीनगर में इंसेफलाइटिस आईसीयू वार्ड के विस्तारीकरण का कार्य

कुशीनगर। जिला स्तर पर इंसेफेलाइटिस इलाज की व्यवस्था सुदृढ करने के लिए जिला अस्पताल में बने इंसेफेलाइटिस आईसीयू वार्ड को 15 बेड तक विस्तारित करने का काम एक वर्ष में भी नहीं हो पाया है.

वर्ष 2012 में अखिलेश सरकार ने गोरखपुर_बस्ती मंडल के सभी नौ जिला अस्पतालों में 10-10 बेड का इंसेफेलाइटिस आईसीयू वार्ड बनाया था जो 2013 के आखिर में क्रियाशील हो पाया था.  योगी सरकार ने वर्ष 2018 में जिला अस्पतालों में बने इंसेफेलाइटिस आईसीयू वार्ड को विस्तारित कर 10 से 15 बेड करने का निर्णय लिया. इस कार्य को वर्ष 2018 के अगस्त माह तक ही पूरा कर लेना था ताकि इंसेफेलाइटिस रोगियों के इलाज की बेहतर व्यवस्था हो सके. गोरखपुर और देवरिया के जिला अस्पतालों में विस्तारीकरण कार्य तो समय से पूरा हो गया और वहां मरीजों की भर्ती कर इलाज भी हुआ लेकिन कुशीनगर जिला अस्पताल परिसर में  बने इंसेफेलाइटिस आईसीयू वार्ड के विस्तारीकरण का काम अभी तक पूरा नहीं हो सका है.

सितम्बर -2018 में इंसेफेलाइटिस वार्ड की छत डाली गई थी

कुशीनगर जिला अस्पताल के मुख्य द्वार के ठीक सामने इंसेफेलाइटिस आईसीयू वार्ड है. यहां पर 10 बेड है. वार्ड को 15 बेड तक विस्तारित करने के लिए वार्ड के आगे नई छत डाली गई. यह कार्य सितम्बर 2018 में हुआ लेकिन आगे के छह माह बाद भी इस भवन की साफ-सफाई कर इसे तैयार नहीं किया जा सका है. इस कारण मरीजों और उनके परिजनों के साथ-साथ डाॅक्टर व स्टाफ को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि उन्हें इसी अर्धनिर्मित भवन से होकर इंसेफेलाइटिस आईसीयू वार्ड में जाना पड़ता है.

हैरत की बात यह है कि इंसेफेलाइटिस आईसीयू वार्ड के विस्तारीकरण का कार्य काफी पहले पूरा हो जाने का दावा बार-बार किया गया जबकि असलियत यह है कि अभी भी यहां काम चल रहा है.

मनोज कुमार सिंह
मनोज कुमार सिंह गोरखपुर न्यूज़ लाइन के संपादक हैं
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments