समाचार

क्वारंटीन सेंटर्स पर हो रही है पूल टेस्टिंग, 60 लोगों के सैंपल जांच की प्रक्रिया में

गोरखपुर. कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए जिले में पूल टेस्टिंग प्रक्रिया तेज कर दी गयी है। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. श्रीकांत तिवारी ने बताया कि चिकित्सकों और लैब टेक्निशियन की तीन अलग-अलग टीम क्वारंटीन सेंटर्स पर जाकर पूल टेस्टिंग कर रही है। मंडलीय कारागार गोरखपुर, सहजनवां और सरस्वती विद्या मंदिर स्थित क्वारंटीन सेंटर्स से 60 लोगों के सैंपल की पूल टेस्टिंग कर जांच के लिए भेजा जा चुका है।

गुरूवार को बड़हलगंज, उरूवा और जंगल कौड़िया स्थित सेंटर्स में भी पूल टेस्टिंग की गई है। उन्होंने क्वारंटीन सेंटर्स में रह लगे लोगों और उनके परिजनों से अपील की है कि कोरोना वारियर्स के साथ दुर्व्यहार न किया जाए। ऐसा करने पर कड़ी कार्यवाही होगी। उन्होंने बताया कि पिछले दिनों ब्रह्मपुर पीएचसी की मेडिकल टीम से अभद्रता की गयी थी।

सीएमओ ने बताया कि ब्रह्मपुर में महिला चिकित्सक व मेडिकल टीम से हुए दुर्व्यवहार के मामले में आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। हमारे चिकित्सक और पैरामेडिकल टीम जान जोखिम में डाल कर क्वारंटीन सेंटर्स पर संभावित रोगियों के बीच काम करने जा रहे हैं। सभी को उनका सम्मान करना चाहिए। सीएमओ ने बताया कि जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. आईबी विश्वकर्मा की देखरेख में पूल टेस्टिंग के कार्य को और तेज किया जाएगा ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों की जांच सुनिश्चित की जा सके।

ऐसे होती है पुल टेस्टिंग

सीएमओ ने बताया कि कोरोना के संभावित रोगियों का कई ग्रुप बना कर सभी के सैंपल मिक्स कर दिये जाते हैं। जिन ग्रुप्स में रिपोर्ट निगेटिव आती है, उतने लोगों को कोरोना से मुक्त मानते हुए जिन ग्रुप की रिपोर्ट पॉजीटिव होती है वहां व्यक्तिगत सैंपलिंग कर जांच की जाती है। उन्होंने बताया कि गीडा स्थित डेंटल कॉलेज और नंदानगर स्थित टीबी अस्पताल में बने क्वेरेंटाइन सेंटर्स में लोगों की वन टू वन सैंपलिंग की जा रही है।

कोरोना से सुरक्षा के उपाय 

1- हाथों को साबुन-पानी से बार-बार अच्छी तरह से धुलें
2- सार्वजानिक स्थलों पर दूसरे से दो गज दूर रहें
3- बाहर निकलें तो मास्क जरूर लगायें
4- नाक,मुंह और आँख को न छुएं
5- खांसने, छींकने और थूकने के शिष्टाचार को समझें
6- इधर-उधर पड़ी चीजों को अनावश्यक न छुएं
7- ध्यान, योगा और प्राणायाम करें
8- रोग प्रतिरोधक क्षमता बनाये रखने के लिए पौष्टिक आहार लें
9- बुजुर्ग, छोटे बच्चे व गर्भवती तभी बाहर निकलें जब बहुत जरूरी हो

विशेष जानकारी के लिए संपर्क करें :

कोरोना संक्रमण के लक्षण दिखने पर जैसे सांस फूलना या अत्यधिक तेज बुखार होने पर तुरंत स्वास्थ्य विभाग के टोल फ्री नंबर 1800-180-5145 अथवा जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी/ जिला सर्विलेंस अधिकारी से तुरंत संपर्क करें ।

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz