समाचार

अन्तरजातीय प्रेम विवाह करने वाले ग्राम पंचायत अधिकारी की दिनदहाड़े हत्या

गोरखपुर। अन्तरजातीय प्रेम विवाह करने वाले ग्राम पंचायत अधिकारी अनीस कुमार चौधरी उर्फ पिंटू की शनिवार की सुबह दस बजे गोपालपुर चैराहे पर चार हमलावरों ने धारदार हथियार दाब से प्रहार कर हत्या कर दी। अनीस को बचाने आए उनके चाचा देवीदयाल पर भी हमलावरों ने हमला किया और उन्हें बुरी तरह जख्मी कर दिया। उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है।

पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है और अभियुक्तों की गिरफ़्तारी के लिए प्रयास कर रही है।

अन्तरजातीय प्रेम विवाह करने पर हत्या की यह दूसरी घटना सामने आयी है। देवरिया जिले के बरहज क्षेत्र में एक इंजीनियरिंग छात्र की अप्रैल महीने में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

 

गोला क्षेत्र के उनौली गांव निवासी ग्राम पंचायत अधिकारी अनीश चौधरी शनिवार की सुबह अपने चाचा देवीदयाल के साथ कार से घर से निकले। देवीदयाल भी ग्राम पंचायत अधिकारी हैं और उरूवा में तैनात हैं। दोनो उरूवा ब्लाक जाने के लिए घर से निकले थे। गोपालपुर चैराहे पर दोनों एक बिल्डिंग मैटेरियल की दुकान पर हिसाब करने के लिए रूके। यहां से काम निबटा कर अनीश ज्योंही दुकान से बाहर निकले दो बाइक पर आए चार लोगों ने धारदार हथियार से उन पर हमला कर दिया। हमलावरों ने उनके सिर, चेहरे, सीने और गर्दन पर घातक प्रहार किए। अनीश को बचाने आए देवीदयाल पर भी हमलावर टूट पड़े और उन्हें बुरी तरह जख्मी कर दिया।

बाइक चला रहे दो हमलावर हेलमेट पहने हुए थे जबकि पीछे बैठे दोनों हमलावर गमछे से अपना चेहरा ढके हुए थे।

दलित इंजीनियरिंग छात्र की हत्या करने वाले पूरे परिवार को जला कर मार डालने की दे रहे हैं धमकी

अनीश और देवीदयाल को घायल करने के बाद हमलावर उरूवा की तरफ भाग निकले। कुछ प्रत्यक्षदशियों का कहना है कि हमलावरों ने खून से लथपथ तड़प रहे अनीश की मोबाइल से तस्वीरें भी लीं।

घायल अनीश और देवीदयाल को पहले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया जहां से चिकित्सकों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला अस्पताल पहुंचते -पहुंचते अनीश की मौत हो गई। घायल देवीदयाल का इलाज हो रहा है।

अनीश के भाई पूर्व प्रधान अनिल ने इस घटना के पीछे अनीश की पत्नी दीप्ति मिश्र के मायके के लोगों  को जिम्मेदार ठहराया है। अनिल के अनुसार अनीश और दीप्ति ने प्रेम विवाह किया जिसके कारण दीप्ति के घर वाले नाराज थे और मारने की धमकी दे रहे थे। दीप्ति इस वक्त गर्भवती है।

अनीश और दीप्ति के विवाह की तस्वीर

अनीस कुमार उरूवा ब्लाक में ग्राम पंचायत अधिकारी थे। उनका चयन 2015 में ग्राम पंचायत अधिकारी के रूप में हुआ था। उन्हीं के साथ चयनित दीप्ति मिश्र के साथ उन्होंने 2018 में कोर्ट मैरिज कर ली। दोनों ने अपनी शादी को सार्वजनिक नहीं किया था। इसी बीच दीप्ति के घर वालों ने जब दोनों के विवाह का पता चला तो उन्होंने दीप्ति पर दबाव बनाना शुरू किया और उसे अनीश से मिलने से रोक दिया। पिछले वर्ष अनीस के खिलाफ गगहा थाने में दुष्कर्म का केस दर्ज कराया गया। इसी बीच अनीश पर एक बार हमला भी हुआ जिसकी एफआईआर उन्होंने करायी थी।

फरवरी 2021 में दीप्ति, अनीश के घर चली गई और साथ रहने लगी। दीप्ति के परिजनों ने अनीस व उनके घर के लोगों पर अपहरण की एफआईआर दर्ज करा दी। इसके बाद पुलिस अनीश के घर वालों को परेशान करने लगी। फरवरी में दीप्ति और अनीश ने एक वीडियो जारी कर प्रेम विवाह करने और साथ रहने की बात करते हुए अधिकारियों से अपील की थी कि उन्हें परेशान न किया जाए। बाद में दोनों ने गोरखपुर के एक मैरेज हाल में समारोह आयोजित कर विधिवत शादी की।

About the author

गोरखपुर न्यूज़ लाइन

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz