समाचार

भारत बंद के समर्थन में लोगों से संपर्क किया, पर्चे बाँटे

देवरिया। संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 27 सितम्बर  को भारत बंद का समर्थन करने के लिए भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष राघवेन्द्र प्रताप शाही के नेतृत्व में संयुक्त किसान मोर्चा के जिलास्तरीय प्रतिनिधि मंडल ने रुद्रपुर के तहसील बार एसोसिएशन के अघ्यक्ष एवं अधिवक्ताओं सहित व्यापार मंडल के अध्यक्ष श्याम जी जायसवाल, व्यापार उद्योग मंडल के अध्यक्ष रमापति शुक्ल, टैम्पो टैक्सी यूनियन जैसे संगठनों से मिलकर भारत बंद को सफल बनाने की अपील की।

संयुक्त किसान मोर्चा के प्रतिनिधिमंडल में सर्वोदय मंडल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ मधुसूदन उपाध्याय , भाकपा माले नेता कामरेड रामकिशोर वर्मा, डॉ आर पी तिवारी ,किसान नेता रामनयन यादव,बृजेन्द्र मणि त्रिपाठी,विजय जुआठा,रामधनी मल्ल, चंद्रदेव सिंह एवं समान शिक्षा आंदोलन के नेता डॉ चतुरानन ओझा एडवोकेट शशिभूषण निगम शामिल रहे। इस दौरान नगर में किसान आंदोलन के पर्चे वितरित किए गए और जन संपर्क किया।

संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने पत्र के माध्यम से लोगों को बताया कि  पिछले 10 माह से देश के किसान देश की खेती-किसानी और अन्न के बाजार को बड़े कारपोरेट और बहुराष्ट्रीय कंपनियों का गुलाम बनाने वाले तीन कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली के बार्डरों व देश भर में संघर्ष के मैदान में डटे हैं। यह आंदोलन नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा अपने चहेते कारपोरेटों के हाथ देश के संस्थानों, प्राकृतिक संसाधनों की नीलामी व उन्हें लम्बे समय के लिए किराए पर चढ़ाए जाने के खिलाफ भी है. इस सरकार ने 155 वर्षों के संघर्ष के बल पर प्राप्त श्रम अधिकारों को खत्म कर मजदूरों की नई गुलामी के चार श्रम कोड बिल पास कर दिए हैं।

इस सरकार ने खुदरा बाजार में 100 प्रतिशत एफडीआई के जरिये देश के खुदरा बाजार पर कारपोरेट हमला तेज कर दिया है. पेट्रोल , डीजल, गैस की कीमतों में भारी लूट, महंगाई, देश में खत्म होते रोजगार या शिक्षा व स्वास्थ्य के निजीकरण के कारण उनका आम आदमी की पहुंच से दूर होना, “भारत बंद” देश के सम्मुख खड़े इन सभी सवालों को संबोधित कर रहा है.

27 सितम्बर के भारत बंद को देश भर में केंद्रीय ट्रेड यूनियनों, व्यापार मण्डलों, ट्रांसपोर्ट यूनियनों, छात्र-युवा-महिला संगठनों, बार एसोसियेशनों सहित सभी सामाजिक समूहों द्वारा समर्थन दिया जा रहा है।

About the author

गोरखपुर न्यूज़ लाइन

Leave a Comment

aplikasitogel.xyz hasiltogel.xyz paitogel.xyz